रायपुर, 19 अप्रैल 2017। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू हर आज इहां स्थानीय शिक्षक-शिक्षा महाविद्यालय (बी.टी.आई.) के सभागृह मं तीसरी लिंग समुदाय के राष्ट्रीय दिवस के अवसर म संबोधित करत कहिन कि तीसर लिंग समूह के समाज मं सहभागिता अउर महत्वपूर्ण स्थान सुनिश्चित होना चाही। श्रीमती साहू हर कहिन कि छत्तीसगढ़ देश के पहली राज्य हावे, जिहां तीसर लिंग बर सरलग नवाचार कार्यक्रम तैयार करे गए हे। राज्य हर ए बात कोति पहला कदम उठाए हे अऊ तीसर लिंग के मनखे ल सम्मिलित करत तीसर लिंग कल्याण बोर्ड के गठन करे गए हे। ए वर्ग के लोगन के पहिचान सुरक्षित करे अउ शासन के योजना मन के लाभ उमन ल देवाये के उद्देश्य से जिला स्तर म पहिचान पत्र जारी करे बर कलेक्टर के अध्यक्षता मं जिला स्तरीय समिति के गठन करे गए हावे जेमां तीसर लिंग के मनखे ल पूर्ण प्रतिनिधित्व दे गए हे ताकि वो मन अपन बात घलव रख सकंय। तीसर लिंग वर्ग के मनखे ल स्वरोजगार, छात्रवृत्ति, राशन कार्ड के संबंध मं महत्वपूर्ण निर्णय जिला स्तरीय समिति कोति ले लेहे गे हावे। श्रीमती साहू हर कहिन  कि उच्च शिक्षा, कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा अउ रोजगार विभाग अंतर्गत संचालित विषय मन मं ए वर्ग बर छूट प्रदान कराने बर प्रयास करे जात हावे। महिला अउ बाल विकास विभाग के अंतर्गत गठित महिला कोष के माध्यम ले तीसर लिंग के मनखे ल ऋण देना चालू करे गए हावे। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्प संख्यक अउ पिछड़ा वर्ग विकास विभाग अंतर्गत गठित छत्तीसगढ़ अंतःव्यवसायी वित्त अउ विकास निगम ले स्वरोजगार बर ऋण प्रदान करे के प्रक्रिया आखरी चरण मं हावे। खाद्य नागरिक आपूर्ति अउ उपभोक्ता संरक्षण विभाग ले समन्वय करके तीसर समुदाय ल अन्त्योदय कार्ड के अंतर्गत सम्मिलित करे जात हावे। ए अवसर म सामाजिक कार्यकर्ता स्वैच्छिक संस्था मन अउ प्रदेश के कई जिला ले आए तीसर लिंग वर्ग के मनखे के अलावा विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहिन।