बृजमोहन अग्रवाल

नागा साधु मन संग मंत्री बृजमोहन उतरिस अखाड़ा म

●संत मन के शाही स्नान के संग होइस राजिम कुंभ के समापन
●महाशिवरात्रि म राजिम कुंभ म लाखों मनखे मन ह करिस पुण्य स्नान
●साधु संत मन के निकलिस शाही शोभायात्रा के नवापारा-राजिम के जनता ह करिस जोरदार स्वागत
● धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह घलोक सपरिवार लगाइस त्रिवेणी संगम म डुबकी
●नागा साधु मन के संग धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह करिस अखाड़ा प्रदर्शन
रायपुर, 13.02.2018। माघ पूर्णिमा ले छत्तीसगढ़ के धर्म नगरी राजिम के त्रिवेणी संगम म आयोजित कुंभ के आज महाशिवरात्रि के दिन साधु-संत मन के शाही स्नान के संग समापन हो गीस। ए बेरा म भव्य शोभायात्रा निकलिस जेखर हज़ारों श्रद्धालु मन ह अभिनंदन करिन। प्रदेश के धर्मस्व मंत्री बृजमोहन ह घलोक ए शोभायात्रा म सामिल होइन अउ साधु मन के अखाड़ा प्रदर्शन म तलवारबाज़ी तको करिन।

नागा साधु मन के शस्त्र पूजन के संग कई ठन सम्प्रदाय, आश्रम अउ अखाड़ा मन के साधु-संत अपन संस्था मन के निशानी अऊ धजा के संग शाही स्नान बर शोभा यात्रा निकालिन। ये शोभायात्रा लोमश ऋषि आश्रम के तीर बनाय गए संत समागम स्थल ले होके नवापारा के नेहरू घाट ले नवा पुल होवत राजिम पहुंचिस। राजिम म पं. सुंदर लाल शर्मा चौक ले शास्त्री चौक होत साधु-संत त्रिवेणी संगम म शाही कुंड तक पहुंचिन। शोभायात्रा के अगुवाई परंपरानुसार नागा साधु मन के दल ह करत रहिस। आश्रम अऊ अखाड़ा मन के प्रमुख साधु-संत घोड़ा अऊ बग्गि मन म सवार होके शोभा यात्रा म सामिल होइन।


नवापारा अऊ राजिम शहर के जनता ह शोभा यात्रा के फूल बरसा के अभिनंदन करिस। शोभायात्रा म सामिल नागा साधु मन के संग आन साधु मन ह अपन शस्त्र मन के संग आकर्षक करतब देखात अखाड़ा प्रदर्शन करत रहिन। ए बेरा म बृजमोहन अग्रवाल ह कहिन कि आज महाशिवरात्रि के पावन पर्व म राजिम के त्रिवेणी संगम म पुण्य स्नान के सौभाग्य मिले हे। उमन कहिन कि राजिम कुंभ के महिमा बाढ़त जात हे। लाखों के संख्या म श्रद्धालु इहां आवत हें। आज घलोक कुंभ के समापन अवसर अइसनहे नजारा दिखत रहिस। श्री अग्रवाल ह घलोक सपरिवार कुंभ के कुंड म डुबकी लगाके पुण्य लाभ लीन। ओकर बाद ओ मन कुलेश्वर महादेव मंदिर पहुँचके पूजा अर्चना करिन अऊ भगवान ले छत्तीसगढ वासी मन के जीवन मे सुख, शांति अऊ समृद्धि के कामना करिन। ए दौरान राजिम विधायक संतोष उपाध्याय अऊ नयापारा नगरपालिका अध्यक्ष विजय गोयल ह घलोक त्रिवेणी संगम म पुण्य स्नान करिन।

मुहाचाही:  बृजमोहन अग्रवाल के किसान मन बर संदेस