बृजमोहन अग्रवाल

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत राज्य बर स्वीकृत परियोजना मन ल नाबार्ड ले जल्‍दी मिलही राशि

छत्तीसगढ़ के जलसंसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ह पीएमकेएसवाई म राज्य के सिचाई मंत्री मन के बैठक म करिन मांग

रायपुर, 15 फरवरी 2018। छत्तीसगढ़ के जलसंसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ह केन्द्र सरकार ले मांग करे हें कि प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना (पीएमकेएसवाई) म नाबार्ड ले ऋण प्राप्त करे म जऊन बाधा आवत हे ओला केन्द्र सरकार जल्‍दी दूर करय। श्री अग्रवाल आज नई दिल्ली के परिवहन भवन म प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना म राज्य मन के सिंचाई मंत्री मन के बैठक मे बोलत रहिन। बैठक के अध्यक्षता केन्द्रीय जलसंसाधन मंत्री श्री नितिन गडकरी ह करिन। ए अवसर म केन्द्रीय जलसंसाधन राज्यमंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल, छत्तीसगढ के जलसंसाधन विभाग के सचिव श्री सोनमणी बोरा संग आन राज्य ले आए सिचाई मंत्री अउ अधिकारीगण घलोक उपस्थित रहिन।
श्री अग्रवाल ह बैठक म बताइन कि, छत्तीसगढ़ के तीन सिंचाई परियोजना केलो, मनियारी अउ खारंग बर नाबार्ड ले ऋण प्राप्ती बर प्रस्ताव भेजे गए हे। राज्य के ए प्रस्ताव म केन्द्रीय मंत्री ह कहिन कि ओ मन नाबार्ड ले ए विसय म चर्चा करके जरूरी राशि राज्य ल देवाए जाही। श्री अग्रवाल ह बताइन कि ये परियोजना मन ल मार्च 2019 तक पूरा करे जाना हे।




छत्तीसगढ के जलसंसाधन मंत्री ह बताइन कि, राज्य म सिंचाई सुविधा बढाए बर लक्ष्य भागीरथी योजना संचालित करे गए हे। ए योजना म केन्द्रीय जलसंसाधन मंत्री श्री नितिन गडकरी ह कहिन कि राज्य म ये योजना बहुत सुघ्‍धर ढंग ले काम करत हे। आन राज्य मन ल घलोक ए प्रकार ले खुद के क्षमता ले अकतहा सिंचाई सुविधा बढाए के काम करना चाही। बैठक म छत्तीसगढ के जलसंसाधन विभाग के सचिव श्री सोनमणी बोरा कोति ले राज्य म सिंचाई परियोजना मन अउ छत्तीसगढ म किसान मन के आय ल दुगुना करे बर होवत काम के विस्तार ले जानकारी घलोक दीन।
आप मन जानतेच होहू के, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत साल 2022 के पहिली किसान मन के आय ल दुगुना करे के लक्ष्य तय करे गए हे। ए योजना के तहत देशभर म लंबित 99 सिंचाई परियोजना मन ल पूरा करे जाना हे। ए परियोजना के पूरा होए ले करीबन 80 लाख हेक्टेयर क्षेत्र मे नवा सिंचाई सुविधा विकसित होही। ए परियोना मन ल 70 हजार करोड़ रूपिया नाबार्ड ले ऋण के रूप म दीए जाही। बैठक म ए परियोजना मन बर नाबार्ड ले राज्य मन ल जल्‍दी राशि देहे बर चर्चा होइस।



मुहाचाही:  राज्य म बालिका शिक्षा ल लेके अभूतपूर्व जागरूकता: डॉ. रमन सिंह