Chhattisgarhi Uncategorized

विद्यार्थी मन ल रूचि के अनुसार पढ़ाई करना चाही : श्री बृजमोहन अग्रवाल





कृषि मंत्री हर कैरियर मार्गदर्शन सेमीनार मं सफलता बर दीस युवा मन ल टिप्स
रायपुर, 19 मार्च 2017। कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल हर कहे हे कि विद्यार्थि मन ल बेहतर भविष्य बर अपन रूचि से संबंधित शिक्षा लेना चाही। रूचि अनुसार शिक्षा लेहे ले सफलता के संभावना अधिक रहिथे। श्री अग्रवाल हर कहिन कि छत्तीसगढ़ मं घलोक अब युवा मन ल उच्‍च शिक्षा के क्षेत्र मं राष्ट्रीय स्तर के शिक्षण सुविधा मिलत हे। राज्य के युवा भविष्य बर लक्ष्य निरधारित करके उच्‍च शिक्षा प्राप्त करहीं तो ओ मन ल सफलता निश्चित रूप ले मिलही। श्री अग्रवाल आज इहां जे.एन. पाण्डेय शासकीय बहुउद्देशीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के सभाकक्ष मं बारहवीं परीक्षा देवात विद्यार्थि मन बर आयोजित कैरियर मार्गदर्शन सेमीनार ल सम्बोधित करत रहिन। एखर आयोजन नव अंकुर संस्था ह करे रहिस।
श्री अग्रवाल हर कहिन कि युवा मन ल हर मामला मं अपन सोच के दायरा बढ़ाना होही। ओ मन ल केवल छत्तीसगढ़ मं ही मिलत शिक्षा सुविधा म ही ध्यान नइ देना चाही। देश के आन राज्य मं मिलत सुविधा मन के लाभ उठाए बर आगू आना चाही। वैश्विक बाजार के ए दौर मं व्यावसायिक शिक्षा के विशेष महत्व हावे। शासकीय सेवा के अलावा निजी क्षेत्र मन अउ व्यावसायिक उपक्रम मन मं घलोक सेवा के बेहतर अवसर मिलत हे। श्री अग्रवाल हर कहिन कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हर युवा मन ल जादा ले जादा रोजगार देवाए के उद्देश्य ले स्किल डेव्हलपमेंट अऊ स्टार्टअप योजना शुरू करे हावे। छत्तीसगढ़ मं घलोक राज्य सरकार ह युवा मन के कौशल विकास बर नवा-नवा योजना संचालित करत हे।
श्री अग्रवाल हर नव अंकुर संस्था के तरफ ले पी.ई.टी. अऊ पी.एम.टी. जइसे प्रतियोगी परीक्षा मन बर निःशुल्क प्रशिक्षण देहे के काम के घलोक सराहना करिन अऊ बैंक, रेलवे संग अऊ सार्वजनिक उपक्रम मन मं भर्ती बर होवइया परीक्षा मन ले संबंधित क्रेस-कोर्स चलाय के सुझाव संस्था के प्रतिनिधि मन ल दीन। श्री अग्रवाल हर विद्यार्थि मन ले अपन परिजन के सपना ल पूरा करे बर पूरा लगन से मेहनत करे के आग्रह करिन। उमन कहिन कि बारहवीं पास करे के बाद उच्‍च शिक्षा के संस्था मन मं पहुंचे म युवा मन के जिम्मेदारी स्वाभाविक रूप ले बढ़ जाथे। परिवारजन ल युवा मन से बहुत अपेक्षा होथे। हर कुटुंब चाहथे कि ऊंखर लइका समाज मं अपन अच्छा स्थान बनावय। युवा मन ल एखर खातिर स्पष्ट लक्ष्य निरधारित कर सकारात्मक सोच के साथ आगू बढ़ना होही।
श्री अग्रवाल हर कहिन कि आज संचार के आधुनिक संसाधन युवा मन बर आसानी ले मिलत हे। ए संसाधन मन के सही उपयोग करे के कला युवा मन ल आनी चाही। अइसन संसाधन मन के माध्यम से ओ मन अच्छा शिक्षा प्राप्त कर सकत हें। समय के सदुपयोग करे मं ए संसाधन मन ले बहुत मदद मिलथे। श्री अग्रवाल हर कहिन कि कोनो मनखे या संस्था के सफलता हमला ऊंखर शिखर म पहुंचे म ही दिखाई देथे, लेकिन हमला ए बात के घलोक ध्यान रखना चाही कि उमन जइसन कठिन परिश्रम के साथ हर पल के उपयोग करिन अउ कामयाबी पाय हावे। ए अवसर म अंकुर संस्था के श्री यशवंत अग्रवाल, श्री रितेश जोशी संग अऊ कई सदस्य मौजूद रहिन।






मुहाचाही:  धमतरी : आंगनबाड़ी सहायिका बर आवेदन छह मई तक आमंत्रित