Success Stories

सौर सुजला योजना ले मंहगू के खेत मन म छाइस हरियाली

खीरा के खेती ले ओला तीन लाख रूपिया अऊ मटरा के खेती ले एक लाख रूपिया के आय

अम्बिकापुर 13 फरवरी 2018। सरगुजा जिला मुख्यालय अम्बिकापुर ले करीबन 50 किलोमीटर दूरिहा लुण्ड्रा विकासखण्ड के ग्राम घघरी के 70 बछर के किसान मंहगू राम के खेत मन म अब हरियाली छा गए हे। कुछ महिना पहिली तक ओला खेत मन म सिंचाई करे के बेरा बिजली के लो-वोल्टेज के समस्या के सामना करना परत रहिस। मंहगू राम ह बताइस कि ओखर खेत ले ट्रॉन्सफार्मर दूरिहा होए के सेती हरदमे लो-वोल्टेज के समस्या रहत रहिस, जेखर सेती बेरा म फसल मन के सिंचाई नइ हो पात रहिस। एखर से फसल के उत्पादन घलोक प्रभावित होत रहिस।



किसान मंहगू राम ल जब सौर सुजला योजना के पता चलिस त ओ ह येकर लाभ लीस। अब वो ह एकर तहत अपन खेत म सोलर पैनल के माध्यम ले संचालित पम्प के उपयोग करत हे, जेखर से खेत मन ल भरपूर पानी मिलत हे। संगेच ओला लो-वोल्टेज के सामना घलोक नइ करना परत हे। किसान महंगू राम ह बताइस कि ओखर तीर करीबन 6 एकड़ खेती के जमीन हे, जऊन म वो सिंचाई सुविधा के अभाव म सिरिफ वर्षा आधारित खेती करत रहिस। बाद म ओ ह अपन खेत म ट्यूबेल खोदवाके सिंचाई पंप लगवाइस अउ कुछ समय बाद स्प्रिंकलर घलोक लगवा लीस। किसान मंहगू राम के नाती राजेन्द्र ह बताइस कि सौर सुजला योजना के तहत सौर ऊर्जा चलित सिंचाई पंप अऊ सोलर पैनल लगवा लेहे ले अब ओ मन ल फसल मन के सिंचाई करे म सुविधा हो गए हे। राजेन्द्र ह बताइस कि ओ मन मिरचा के बाद खीरा के खेती करथें। ओ हर ये घलोक बताइस कि पाछू बरसात म खीरा के खेती ले ओला तीन लाख रूपिया अऊ मटरा के खेती ले एक लाख रूपिया के आय होए रहिस।
किसान मंहगू राम के नाती राजेन्द्र ह खेत मे खीरा के फसल मन म कीटनाशक दवई के छिड़काव करत बताइस कि शुरू ले ही कीटनाशक दवाई के छिड़काव करे ले फसल मन म कोनो कीटब्याधि या आन रोग नइ होए पाए। वो ह बताइस कि अभी ओ ह खेत मन म खीरा, आलू, टमाटर, प्याज, भांटा अऊ मटर आदि लगाये हे। ओ हर ये घलोक बताइस कि एक साल म ओला खीरा के तीन फसल लेथे। पहली फसल के बोनी मई महिना म, दूसर फसल के बोनी जुलाई-अगस्त म अउ तीसर फसल के बोनी जनवरी म करथें, खीरा के खेती करथें अऊ एखर से ओ मन ल अच्छा आमदनी हो जाथे।


मुहाचाही:  सांकरा ग्राम पंचायत ल मिलीस दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार