हड़ताल म रोक के सिफारिश के विरोध मं वकील मन आधा दिन के हड़ताल करहीं

बार काउंसिल ऑफ इंडिया हर वकील मन के हड़ताल म रोक अऊ एखर बर जुर्माना लगाय के विधि आयोग के सिफारिश मन ल अलोकतांत्रिक अऊ असंवैधानिक बताय हावे।

वकील मन ह अपन हड़ताल म रोक लगाय वाले विधि आयोग के सिफारिश मन के विरोध करे हें। बिजनेस स्टैंडर्ड के एक रिपोट के मुताबिक बिरस्पत के दिन बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) हर कहिस कि 21 अप्रैल के दिन वकील मन दोपहर के बाद ले अदालती कामकाज नई करयं। बीसीआई के अध्यक्ष मनन कुमार मिश्रा हर बताइस कि वकील विधि आयोग के सिफारिश अऊ एडवोकेट्स एक्ट (अमेंडमेंट) बिल-2017 के प्रति मन ल बार के अपन विरोध दर्ज कराहीं।

विधि आयोग ह वकील मन के हड़ताल ऊपर रोक लगाय के संग भविष्य मं हड़ताल म जवइया वकील मन ऊपर जुर्माना लगाय के घलोक सिफारिश करे हावे। बीसीआई ह विधि आयोग ले एडवोकेट्स एक्ट मं सुझाए गए संशोधन ल क्रूर, वकील विरोधी, असंवैधानिक, अलोकतांत्रिक अऊ जनविरोधी बताय हे। ए सिफारिश मन ल कानूनी पेसा अऊ अधिवक्ता मन के आजादी के खिलाफ बतात बीसीआई के अध्यक्ष हर कहिस कि कानूनी पेशा अऊ कानूनी शिक्षा के नियमन अऊ नियंत्रण के जिम्मेदारी गैर-अधिवक्ता मन ल सौंपे के तैयारी होत हे।

बीसीआई के अध्यक्ष हर ये घलोक चेतावनी दीस कि कहूँ केंद्र सरकार ह विधि आयोग के सिफारिश मन ल खारिज नइ करिस त दू मई ले राष्ट्रीय राजधानी मं पटियाला हाउस कोर्ट ले राजघाट तक रैली निकालके विरोध दर्ज कराए जाही। उमन आगू कहिन कि एखर बाद घलो कहूँ नई मानहिं त बीसीआई रैली निकाले के संग जेल भरो अभियान चलाही। बीसीआई के मुताबिक देश मं दिसंबर 2016 तक पंजीकृत अधिवक्ता मन के संख्या 14.5 लाख हवय।