फसल के पहली खेत मन के माटी के जांच जरूर करवाव

कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह विश्व मृदा दिवस म आयोजित कार्यशाला म किसान मन ले करिन अपील


अवईया फरवरी तक प्रदेश के 37.46 लाख किसान मन ल मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड उपलब्ध कराये के लक्ष्य


kisan


कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह किसान मन ले फसल लेहे के पहिली हर पईत अपन खेत मन के माटी के जांच कराये के गिलौली करिन। अग्रवाल ह विश्व मृदा दिवस के मउका म शासकीय कृषि महाविद्यालय रायपुर के सभागृह म छत्तीसगढ़ म मृदा स्वास्थ्य विषय म आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला म किसान मन ल सम्बोधित करत कहिन। उमन कहिन के विश्व मृदा दिवस के अवसर म जमो किसान ल बाना उंचाना चाहिए, के उमन हर साल खेत के माटी के जांच करावंय। किसान मन के खुशहाली बर हमला धरती मां के चिंता करना जरूरी हे। बाजारवाद के ये दौर म हम केवल खेती के जमीन मन ले जादा से जादा उत्पादन लेहे बर मनमाना ढंग ले उपयोग करत हें। हमार उद्देश्य केवल उत्पादन बढ़ाये के रहि गये हे। इकर खातिर आज खेती-किसानी म रासायनिक खाद मन अउ दवई के अड़बड उपयोग होवत हे। सीमा से जादा इखंर उपयोग बढ़े ले अब येखर दुष्प्रभाव घलव सामने आवत हे। कई जघा खेती के जमीन मन के उपजाउ शक्ति लउहे कमती होवत हे। ये कोती हम धरती मां के चिंता करना जरूरी हे, तभे हम अवईया पीढ़ी बर सुघ्‍घर भविष्य दे सकत हन। कृषि मंत्री अग्रवाल ह ये अवसर म किसान मन ल मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड के वितरण घलव करे गईस।
कृषि मंत्री अग्रवाल ह कहिन के जमो किसान मन ल खेती के अपन जमीन के मिट्टी परीक्षण कराके ओकर स्वास्थ्य के बारे म समुचित जानकारी होना चाही, ताकि उमन खेत मन ल उपजाऊ बनाए राखे के जमो जरूरी सूक्ष्म तत्व मन के समुचित उपयोग कर सक‍हीं। येकर बर किसान मन म जागरूकता लाना जरूरी हे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ह देश के जम्‍मो किसान मन ल मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड उपलब्ध कराये के योजना शुरू करे हें। ये योजना के तहत छत्तीसगढ़ के जम्‍मो 37 लाख 46 किसान मन ल अवईया फरवरी 2017 तक मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड उपलब्ध करा दिये जाही। किसान मन तीर स्वास्थ्य कार्ड होये ले उमन ल खेत मन के माटी के गुणवत्ता, माटी के कमी अउ आन जरूरी जानकारी मिलही। कार्ड म देहे सुझाव के आधार म किसान उपयुक्त फसल लेके जादा लाभ प्राप्त कर सकत हें। उमन किसान मन ल जैविक खेती के महत्व बतात ये पद्धति ल घलव अपनाये के आग्रह करिन।
कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ह ये अवसर म खेती-किसानी के लागत कम करे अउ किसान मन ल जादा फायदा पहुंचाये खातिर राज्य सरकार कोती ले करे जात काम मन के विस्तार ले जानकारी दीन। उमन खास प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अउ प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के संगें'संग राज्य सरकार के बिना ब्याज के किसान मन ल अल्पकालीन कृषि ऋण उपलब्ध कराये अउ खेती बर निःशुल्क बिजली देहे के योजना के चर्चा करिन। उमन बताईन के माइक्रो एरिगेशन के माध्यम ले एक लाख हेक्टेयर म सिंचाई क्षमता विकसित करे के व्यापक कार्ययोजना बनाये गए हे। उमन ये अवसर म अधिकारी मन ल भविष्य म हर साल किसान मन के मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड उपलब्ध कराये के जरूरी उदीम करे के निर्देश दीन।
इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटिल ह माटी के अच्‍छा स्वास्थ्य ल मानव सभ्यता के विकास ले जोड़त जीवन बर स्वस्थ धरती के जरूरत ल बताईन। उमन कहिन के माटी म जीवन देहे अउ जीवन नष्ट करे के क्षमता होथे। संचालक कृषि एम.एस. केरकेट्टा ह बहुत विस्तार ले मिट्टी के गुणवत्ता अउ मिट्टी के उपजाऊपन बर जरूरी तत्व मन के बारे म बताईन। उमन मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड के फायदा ल गिनावत छत्तीसगढ़ म किसान मन ल कार्ड वितरण बर करे गए तईयारी के घलव जानकारी दीन। संचालक विस्तार सेवाएं डॉ. एम.पी. ठाकुर ह आभार प्रदर्शन करिन। कार्यशाला म कृषि वैज्ञानिक मन प्रदेश भर ले आए किसान मन ल सरल ढंग ले खेत मन के माटी अउ मिट्टी स्वास्थ्य कार्ड के महत्व के बारे म बताइन अउ उखंर मार्गदर्शन करिन।

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment