रतनपुर के महामाया माई मंदिर म लगिस स्वाइप मशीन : कैशलेश

कैशलेस छत्तीसगढ़ बनाये खातिर जइसे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह जिला कलेक्टर मन ला निर्देश जारी करिन, वइसनहे जमो जिले के कलेक्टमन ये निर्देश के पालन करे म लग गइन अउ रतनपुर के महामाया मंदिर ह बिलासपुर संभाग के पहली मंदिर हो गए, जिहां स्वाइप मशीन लगिस। एकर ले दानदाता मन एटीएम कार्ड ले स्वाइप करके दान कर सकहीं। पहिली के संभागायुक्त अउ महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव सोनमणी बोरा ह स्वाइप करके मशीन ले दान करइया पहिली दानदाता बनिन अए नवा कैशलेस व्यवस्था के शुभारंभ करिन।

महामाया के नगरी म स्मार्ट बैंकिंग के रद्दा म मंदिर के पदाधिकारी मन कैशलेस व्यवस्था ल देखत दानदाता मन के सुविधा बर ये व्‍यवस्‍था करवाईन। अब रतनपुर के मॉं महामाया के दरबार म पहुंचईया श्रद्धालु मन दान देहे बर दानपेटी म नगद रूपया-पईसा डारे के जघा स्वाइप मशीन ले दान कर सकहीं। ये अवसर म मंदिर ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी सुनील सोंथलिया ह घलो स्वाइप करके राशि दान करिन। ये समय म भारतीय स्टैट बैंक के शाखा प्रबंधक एल.बी.पी. गुप्ता, नगर पालिका अध्यक्ष आशा सूर्यवंशी, संतोष शर्मा, अमरसिंह यादव, मनराखन जायसवाल ट्रस्टी, अश्वनी दुबे, जुगनू तंबोली संग ट्रस्ट के सदस्य अउ कर्मचारी उपस्थित रहिन।

मंदिर के प्रमुख ट्रस्टी सुनील सोंथलिया ह बताईन के मंदिर म रोज बहुत अकन भक्त आथें ये मशीन के लगे ले श्रद्धालुओं मन ल सहुलियत होही। दान के राशि सीधाा ट्रस्ट के बैंक अकाउंट म जाही। भगत मन दान अउ ज्योति कलश के राशि केडिट कार्ड अउ डेबिट कार्ड के माध्यम ले सीधाा महामाया ट्रस्ट के खाते म घलव जमा करवा सकत हें। मंदिर में अभी एक ठन स्वाइप मशीन लगाए गए हे लउहे दू-तीन मशीन अउ लगाये जाही।
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment