छत्तीसगढ़ी म शिव महापुराण अऊ शिव कार्तिक महात्म्य

धार्मिक ग्रंथ शिव महापुराण-शिव कार्तिक महात्म्य अब आप मन छत्तीसगढ़ी म घलोक पढ़ सकहू।







छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग ए दुनों धर्मग्रंथ मन के छत्तीसगढ़ी म अनुवाद करवाये हावे। 28 जनवरी 2017 के तारीख म राजिम म होवईया आयोग के पांचवां प्रांतीय सम्मेलन म एकर विमोचन होही। पांचवा प्रांतीय सम्मेलन पूर्व सांसद अउ संत कवि पवन दीवान ल समर्पित होही। शिव महापुराण के अनुवाद साहित्यकार गीता शर्मा अऊ शिव कार्तिक महात्म्य के अनुवाद साहित्यकार गिरजा शर्मा ह करे हावंय। पाछू बछर आयोग ह फैसला लेहे रहिस के हर एक साल दू ठन धार्मिक ग्रंथ के छत्तीसगढ़ी म अनुवाद होही अउ ओला प्रकाशित करवाये जाही। आयोग ह शिव महापुराण अउ शिव कार्तिक महात्म्य के एक-एक हजार प्रति प्रकाशित करवावत हे। ये ग्रंथ ल बेंचें नई जाय, भलुक ये ह आयोग कार्यालय ले उन मन ल देहे जाही, जउन मन धार्मिक ग्रंथ मन के महत्व ल समझथें। आयोग इकर चयन अपन स्वयं के पैमाना ले करही।






आयोग ह हिन्दू धर्म ग्रंथ के संगें—संग कुरान के घलोक छत्तीसगढ़ी म अनुवाद करवाए के फैसला ले हावे, एखर खातिर साहित्यकार मन ल गिलोली करे गए हवय, फेर उंखर मन मेर अनुबंध करे जाही। सुरेंद्र दुबे, अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग ह पत्रकार मन ल बताये हें के आयोग हर डॉ. भीमराव अंबेडकर के रचे भारतीय संविधान ल छत्तीसगढ़ी म अनुवाद करवाए के निर्णय घलोक ले हावे, येमा अभी लंबा समय लगही, काबर के येमा जटिलता बहुत हावय। कहूं ये वाले प्रयास सफल हो जाही त आयोग अऊ छत्तीसगढ़ सरकार, भारत सरकार के आघू छत्तीसगढ़ी ल आठवां अनुसूची म सामिल करे के दावेदारी प्रमुखता ले कर सकही।





Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment