मुख्यमंत्री ह करिस राज्य आपदा मोचन बल के प्रशिक्षण केन्द्र के शुभारंभ





केन्द्र के एनडीआरएफ के जइसे छत्तीसगढ़ ह बनाए हे एसडीआरएफ

प्राकृतिक अऊ आकस्मिक संकट के घड़ी म बचाव-राहत कार्य मन बर उपयोगी होही एसडीआरएफ प्रशिक्षण केन्द्र: डॉ. रमन सिंह


रायपुर, 17 जनवरी 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर आज दोपहर बिलासपुर जिला के ग्राम भरनी (परसदा) मं राज्य आपदा मोचन बल के प्रशिक्षण केन्द्र के शुभारंभ करिस। उमन एखर केन्द्र बर अंदाजन दू करोड़ 10 लाख रूपए के लागत ले निर्मित छात्रावास, प्रशासनिक भवन अऊ सैनिक बैरक के घलोक लोकार्पण करिस। उमन कहिन के अतिवृष्टि, बाढ़ अऊ अग्नि दुर्घटना जइसे प्राकृतिक अऊ आकस्मिक विपदाओं के समय ये वाले आपदा मोचन बल काफी उपयोगी साबित होही। डॉ. सिंह हर कहिन के एखर प्रशिक्षण केन्द्र ल लगभग 17 करोड़ रूपए के लागत से विकसित करे जाही।


उल्लेखनीय हावे कि केन्द्र सरकार के राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के तर्ज म हाल ही मं छत्तीसगढ़ सरकार हर राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) के गठन करे हावे। ये मां होमगार्ड अउर नागरिक सुरक्षा संगठन के जवान मन ल अग्नि दुर्घटना सहित कई ठन प्राकृतिक आपदा ले निपटे अउर ए आपदा के समय राहत अऊ बचाव उपाय मन के प्रशिक्षण दे जाही। आम नागरिक घलोक उहां प्रशिक्षण प्राप्त कर सकही। मुख्यमंत्री हर एखर केन्द्र के शुभारंभ करत करत एसडीआरएफ के सफलता बर अपन शुभकामनाएं दिस। उमन कहिन कि एखर जरूरत काफी समय से महसूस के जात रहिस हे। आज ये वाले जरूरत पूरा हो गीस। एखर केन्द्र ले प्रशिक्षित होके एसडीआरएफ के जवान घलोक प्राकृतिक संकट के समय मनखे के जानमाल के रक्षा बर पूरा मुस्तैदी ले काम करहीं। डॉ. सिंह हर कहिन एखर प्रशिक्षण केन्द्र के शुरू होए के बाद राज्य मं आगी बुताए के अऊ दूसर आपदा म सहायता पहुचाये के घलोक विस्तार करे जाही। उमन इहू कहिन के प्राकृतिक संकट अऊ आन दुर्घटना मं पीड़ित मन ल तुरते राहत के जरूरत होथे। राज्य मं कई बड़का मेला-मड़ई अऊ आन माई कार्यक्रम होत हावे, जेमा अड़बड़ अकन मनखे के आना-जाना लगे रहिथे। अइसन समय मं कोनो आन प्रकार के आकस्मिक दुर्घटना अऊ भगदड़ के स्थिति मं मनखे मन ल सुरक्षा अऊ राहत पहुचाये बर प्रशिक्षित बल जरूरी होथे। ये वाले प्रशिक्षण केन्द्र ह एकर जरूरत ल पूरा करही। डॉ. सिंह हर कहिस कि राज्य मं आपात कालीन चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराये बर संजीवनी 108 एक्सप्रेस वाहन सब्बो विकासखंडों मं संचालित करे जावत हे। पाछू चार-पांच साल मं कई ठन दुर्घटना मं घायल लगभग तीस हजार लोगन के जान संजीवनी एक्सप्रेस ले बचाए गए हे।






मुख्यमंत्री हर ए मौका म ग्राम भरनी (परसदा) मं सीमेंट कांक्रीट सड़क निर्माण बर दस लाख रूपए अऊ सामुदायिक भवन निर्माण बर पांच लाख रूपया मंजूर करे के घोषणा करिस। कार्यक्रम मं नगरीय प्रशासन अउर वाणिज्य अऊ उद्योग मंत्री श्री अमर अग्रवाल, राजस्व अऊ आपदा प्रबंधन मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, लोकसभा सांसद श्री लखन लाल साहू, संसदीय सचिव अऊ तखतपुर के विधायक श्री राजू सिंह क्षत्रीय, बिलासपुर के महापौर श्री किशोर राय, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री दीपक साहू, ग्राम भरनी (परसदा) के सरपंच श्रीमती सुप्रिता लहरे, अऊ कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि उपस्थित रहिन। कार्यक्रम म अग्निशमन सेवा के जीवंत प्रदर्शन घलोक करे गीस। अग्निशमन सेवा अऊ राज्य आपदा मोचन बल के महानिदेशक श्री गिरधारी नायक हर स्वागत भाषण मं बताइस के एखर प्रशिक्षण केन्द्र मं जवान मन ल 22 प्रकार के आन-आन दुर्घटना ले मनखे मन के जान-माल के रक्षा बर प्रशिक्षण दे जाही। उमन ये घलोक बताइन के संभाग स्तर म पांच अलग-अलग समूह मन ल 15-15 दिन के रोटेशन मं प्रशिक्षण दे जाही। उमन बताइन के आपात सेवा अऊ जनधन के सुरक्षा ही एसडीआरएफ के लक्ष्य हावे। एसडीआरएफ के 140 जवान मन ल एनडीआरएफ के साथ प्रशिक्षण दे गे हावे। शुभारंभ समारोह मं संभागायुक्त श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, पुलिस महानिरीक्षक श्री विवेकानंद सिन्हा, कलेक्टर श्री अन्बलगन पी., पुलिस अधीक्षक श्री मयंक श्रीवास्तव, एसडीआरएफ के श्री जी.एस.दर्रों, गणमान्य नागरिक अउर ग्रामीणजन मौजूद रहिन।









Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment