विकास के काम ल गिनाए के जरूरत नइ होवय, काम खुदे बोलथे : डॉ. रमन सिंह





मुख्यमत्री हर किसान मन ल देइस नवा शक्कर कारखाना के सौगात


रायपुर, 21 जनवरी 2017। मुख्यमत्री डॉ. रमन सिंह कहिन के विकास के काम मन ल बहुत जादा गिनाए के जरूरत नइ होवय। काम खुदे बोलथे, एक सड़क बनथे, तो वो ह जनता ल अपने आप दिख जथे। राज्य सरकार जउन विकास के काम करत हे वो काम ह खुदे बोलत हे। ये वाले नवा शक्कर कारखाना घलोक एकर एक अच्छा उदाहरण हे। मुख्यमत्री हर आज संझा कबीरधाम जिला के ग्राम बिशेषरा (विकासखण्ड-पंडरिया) म जिला के दूसर अऊ राज्य के चउथा सहकारी शक्कर कारखाना के लोकार्पण करत-करत ए विचार व्यक्त करिन। उमन कहिन के विकास के परिभाषा केवल पुल-पुलिया अऊ भवनेच तक सीमित नइ रहय। जनता के जीवन म आए बदलाव ले विकास के आंकलन करे जा सकथे। आज छत्तीसगढ़ के हर मनखे के चेहरा म आत्मविश्वास के चमक हावे। कोनो बिल्डिंग के बनइ म घलोक दस महीना ले जादा समय लगथे, फेर ये वाले विशाल अऊ अत्याधुनिक नवा कारखाना ह, सहकारिता के आधार म सिरिफ दस महीना के रिकार्ड समय म तैयार होए हे। ये अपन आप म अनोखा उदाहरण हे, ए कारखाने के असली मालिक इहां के किसान हें। में तो सिरिफ ये कारखाना ल ओ मन ल समर्पित करे आए हंव। कारखाना के संचालन बर सहकारी समिति के गठन करे गए हे।


मुख्यमत्री हर नवा शक्कर कारखाना म पेराई बर कन्वेयर बेल्ट म गन्ना डारे अऊ बटन दबाके कारखाना के शुभारंभ करिन। उमन ए नवा कारखाना ल मां लक्ष्मी के धरोहर बताइन अऊ कहिन के 160 करोड़ ले जादा लागत ले बने ए कारखाना के लाभ कबीरधाम संग एकर परोसी मुंगेली अऊ बेमेतरा जिला के लगभग 35 हजार किसान मन ल घलोक मिलही। तीनों जिला के किसान इहां अपन गन्ना के फसल बेचके लाभ कमा सकत हें। ए कारखाना म शक्कर के संग बिजली घलोक बनही। मुख्यमत्री कहिन के ये वाले शक्कर कारखाना ए बात के प्रमाण हावे के मनखे अऊ समाज ठान लए तो कोनो काम असंभव नइ होवय। उमन कहिन के ए कारखाने के निर्माण मार्च 2016 म शुरू होरहिस अऊ एक साल ले घलोक कम समय म, सिरिफ दस महीना के भीतर बन गीस। डॉ. सिंह ह कारखाना के नाम लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम म करिन, जे मन स्वतंत्रता संग्राम म अपन महत्वपूर्ण योगदान देहे हे अऊ आजादी के बाद लगभग 700 देशी रियासत मन ल भारत संघ के अभिन्न अंग बनाए म अपन ऐतिहासिक भूमिका निभाइस।






डॉ. सिंह कहिन के आज कल जब पूरा दुनिया म शक्कर उद्योग म संकट देखे जावत हे, देश के बिहार अऊ उत्तरप्रदेश जइसन राज्य म कारखाना बंद होवत हे, अइसन समें म छत्तीसगढ़ सरकार ह राज्य म एक नवा शक्कर कारखाना के निर्माण के निर्णय लीस। ओला पूरा करना आसान नइ रहिस, फेर सबके मेहनत अऊ सबके सहयोग ले हमन येमा कामयाब होएन। मुख्यमत्री ह एकर श्रेय क्षेत्र के किसान के संगें-संग सहकारिता मत्री श्री दयाल दास बघेल, लोक निर्माण मत्री अऊ जिला के प्रभारी श्री राजेश मूणत, कृषि मत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह, संसदीय सचिव अऊ क्षेत्रीय विधायक श्री मोतीराम चन्द्रवंशी, संसदीय सचिव श्री तोखन साहू, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री अजय सिंह, जिला कलेक्टर श्री धनंजय देवांगन, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सर्वेश्वर भूरे अऊ ओखर पूरा टीम कारखाना के निर्माण म दिन-रात लगे मेहनतकश मजदूर, कर्मचारियों अऊ ठेकेदार मन ल दीन। मुख्यमत्री कहिन कि सबके मेहनत ले आज हम सबके एक सपना साकार होय हे।





Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment