लोक सुराज अभियान: डॉ. रमन अचानक पहुंचे ‘रमनपुर‘

रायपुर, 26 फरवरी 2017. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज दोपहर प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के पहले दौर का शुभारंभ राज्य के आदिवासी बहुल गरियाबंद जिले के ग्राम केड़ीआमा (रमनपुर) से किया। यह ग्राम पंचायत कनेसर का आश्रित गांव है। डॉ. सिंह राजधानी रायपुर से हेलीकाप्टर द्वारा रवाना होकर अचानक पहुंचे। उन्होंने रमनपुर की चौपाल में ग्रामीणों से बातचीत कर उनकी जरूरतों के बारे में पूछा। डॉ. सिंह ने लोक सुराज अभियान के पहले दौर में ग्राम पंचायत मुख्यालय कनेसर में लगाए गए आवेदन संकलित करने के लिए शिविर के बारे में भी अधिकारियों से जानकारी ली। सरपंच श्रीमती विक्टोरिया बाई ने मुख्यमंत्री को स्थानीय समस्याओं के बारे में बताया ।
उल्लेखनीय है कि पहाड़ी पर बसा केड़ीआमा लगभग एक सौ वर्ष पुराना गांव है। यह गांव किन्हीं कारणों से वीरान हो गया था। मुख्यमंत्री ने ही 16 मई 2006 को इसे नए सिरे से बसाया था। इसलिए ग्रामीणों ने उनके प्रति प्यार, सम्मान और आभार प्रकट करने के लिए गांव का नामकरण उनके नाम पर रमनपुर कर दिया है। वर्तमान में इस गांव में 46 परिवार रहते हैं, उनकी जनसंख्या 250 है। मुख्यमंत्री ने ग्राम वासियों के आग्रह पर ग्राम पंचायत मुख्यालय कनेसर से केड़ीआमा तक एक करोड़ 44 लाख रूपए की लागत से सड़क निर्माण जल्द करवाने की घोषणा की और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्माण कार्य तत्काल शुरू करने के निर्देश दिए। इस सड़क के बन जाने पर पहाड़ी में बसे केड़ीआमा (रमनपुर) के लोगों को आवागमन की अच्छी सुविधा मिलेगी। डॉ. सिंह ने कनेसर में मंगल भवन निर्माण के लिए चार लाख रूपए और सीसी रोड निर्माण के लिए छह लाख रूपए मंजूर करने की भी घोषणा की। उन्होंने ग्राम पंचायत में पेयजल के लिए सोलर पंप की भी मंजूरी दी। उन्होंने गांव में थ्री फेस विद्युत कनेक्शन का भी आदेश अधिकारियों को दिया। इस मौके पर राजिम के विधायक श्री संतोष उपाध्याय, संचालक जनसम्पर्क श्री राजेश सुकुमार टोप्पो और कलेक्टर गरियाबंद श्रीमती श्रुति सिंह सहित प्रशासन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी और स्थानीय पंचायत प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने केड़ीआमा की चौपाल में ग्रामीणों को विश्वास दिलाया कि उनकी हर समस्या का समुचित निराकरण किया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह केड़ीआमा के ग्रामीण राजधानी रायपुर आकर जनदर्शन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री से मिले थे। उन्होंने सरपंच और अन्य ग्रामीणों की ओर से ग्राम पंचायत क्षेत्र की कुछ प्रमुख समस्याओं के बारे में ज्ञापन भी सौंपा था। ग्रामीणों का कहना था कि वहां के 46 में से 25 परिवार भूमिहीन है। किसानों की जमीन का सीमांकन जल्द करवाने की जरूरत है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को केड़ीआमा आने का भी न्यौता दिया था।
डॉ. सिंह ने आज रमनपुर की चौपाल में ग्रामीणों को प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के इस वर्ष के कुछ बदले हुए स्वरूप की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने आज से 28 फरवरी तक सभी ग्राम पंचायत मुख्यालयों में और शहरी क्षेत्रों में वार्ड स्तर पर जनता से आवेदन प्राप्त करने का सिलसिला शुरू किया है। इसके लिए शिविर लगाए जा रहे हैं, जहां नोडल अधिकारी निर्धारित फार्म में आवेदन प्राप्त करेंगे। उन्होंने ग्रामीणों से आग्रह किया कि प्रत्येक समस्या के लिए अलग-अलग आवेदन दें। समाधान पेटी भी रखी जा रही, उसमें भी लोग आवेदन दे सकते हैं।



style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">




style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment