कवि मन धियान देवव : डायल -112 योजना खातिर नारा बनावव, इनाम पावव





रायपुर, 14 मार्च 2017। छत्‍तीसगढ़ सरकार के नवा योजना खातिर पुलिस मुख्यालय रायपुर ह पूरा राज्य बर डायल -112 परियोजना के शुभारंभ करइया हे। ऐमा पुलिस वाहन, एम्बुलेंस अउ फायर ब्रिगेड वाहन दुर्घटना स्थल या जरूरत के आपातकालीन जघा म भेजे जाही। कोनो भी आपात स्थिति अउ संकट काल ल लउहे पहुचे अउ सहायता पहुचाए के समय ल कम करे खातिर ये परियोजना शुरू करे जात हे। योजना के तहत पुलिस प्रशासन ये उदीम करही कि शहरी क्षेत्र म अधिकतम 10 मिनट अउ ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतम 30 मिनट के भीतर ये सेवा पीड़ित मनखे तीर पहुंच जाए।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">


राज्य सरकार ह नागरिक मन ले ये परियोजना के नाम ( Name), नारा (Slogan) अउ आकर्षक चिनहा फोटू (logo) बना के मांगत हे। ये बारे म आप अपन सुझाव, परियोजना के नाम, नारा अउ आकर्षक चिनहा फोटू बना के सहायक पुलिस महानिदेशक (तकनीकी सेवा), पुलिस मुख्यालय, नया रायपुर के कक्ष क्रमांक 106 म 31 मार्च तक या मेल आईडी aigtech-phq.cg@gov.in के माध्यम ले भेजे जा सकत हे। जउन प्रतिभागी के स्लोगन, ध्येय वाक्य, आकर्षक लोगो (प्रतीक चिन्ह) अउ प्रोजेक्ट नाम चयनित करे जाही वोला पुलिस विभाग द्वारा उचित रूप ले पुरस्कृत करे जाही। लउहे करव अउ प्रदेश के योजना म सहयोग करव।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">







Slogan, logo invited for Dial-112 - The Police Headquarter Raipur is launching Dial-112 project for the entire State soon. A police vehicle, ambulance and fire brigade vehicle will be dispatched to the site of accident or emergency place of lawlessness. The project is being launched to reduce the Response time to any emergency and distress calls. The State Government had invited a name, slogan, attractive logo from the citizens. The suggestions can be sent to Assistant Director General of Police (Technical Services), Police Headquarter, Naya Raipur.
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment