सहकारिता, पर्यटन अऊ संस्कृति विभाग बर 276 करोड़ 72 लाख के अनुदान मांग पारित





रायपुर 27 मार्च 2017। विधानसभा मं आज प्रदेश सरकार के सहकारिता, पर्यटन अउर संस्कृति विभाग मन के साल 2017-18 बर 276 करोड़ 72 लाख 23 हजार रूपया के अनुदान मांग मन ध्वनिमत ले पारित कर देहे गइस। एमां सहकारिता विभाग बर 166 करोड़ चार लाख 26 हजार रूपया, संस्कृति विभाग बर 42 करोड़ 45 लाख 97 हजार रूपया अउ पर्यटन विभाग बर 68 करोड़ 22 लाख रूपए के अनुदान मांग सामिल हावे।
संस्कृति अउ पर्यटन मंत्री श्री दयालदास बघेल हर अनुदान मांग मन उपर सदन मं होए चर्चा के जवाब देवत बताइन कि राज्य मं स्थानीय लोक कलाकार मन ल बढ़ावा देहे जात हे। उमन बताइन कि सांसद, विधायक अऊ आन जनप्रतिनिधि मन के मांग म लोक कलाकार मन ले सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करे जात हे। साल 2015-16 मं 990 अऊ साल 2016-17 मं दू हजार 035 सांस्कृतिक कार्यक्रम मन के आयोजन करे गए हे। ए कार्यक्रम मन के संग छत्तीसगढ़ के कला संस्कृति के प्रचार-प्रसार अउ संरक्षण करे जात हावे अउ स्थानीय कलाकार मन ल रोजगार प्राप्त होवत हावे। साल 2017-18 के समारोह अउ उत्सव मन बर पंद्रह करोड़ के बजट प्रावधान करे गए हे। श्री बघेल हर बताइस कि पाछू साल 09 मार्च ले 14 मार्च तक विश्व सांस्कृतिक महोत्सव नई दिल्ली मं जिहां 150 ले जादा देश मन के कलाकारों हर हिस्सा ले रहिन ओ अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम मं राज्य के 1200 कलाकार मन पंथी नृत्य करे गए रहिन। ए अवसर म हमार राज्य के कलाकार मन दुनिया भर के मनखे ल नृत्य से मंत्रमुग्ध कर दे रहिन अऊ पूरा विश्व मं पंथी नृत्य के प्रचार-प्रसार होइस। श्री बघेल हर बताइस कि पुरखौती मुक्तांगन मं आघू आमचो बस्तर जइसे सरगुजा अउर मैदानी क्षेत्र के कला संसकृति ल प्रदर्शित करे जाही।
श्री दयालदास बघेल हर बताइस कि राज्य के किसान मन ल शून्य प्रतिशत ब्याज दर म कृषि ऋण प्रदान करे जात हावे। उमन बताइन कि साल 2002-03 मं चार लाख 43 हजार किसान मन ल करजा देहे गए रहिस। साल 2016-17 मं 10 लाख किसान मन ल करजा देहे गीस। साल 2002-03 मं चार लाख 50 हजार किसान मन तीर क्रेडिट कार्ड रहिस जबकि साल 2016-17 मं 10 लाख किसान मन ल किसान क्रेडिट कार्ड देहे गए हे। अब ए जम्‍मो किसान मन ल रूपे किसान क्रेडिट कार्ड जारी करे जात हावे। अब तक तीन लाख 25 हजार ले जादा किसान मन ल रूपे किसान क्रेडिट कार्ड बांट देहे गए हे। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान मन ल फायदा पहुंचाया जात हावे। प्रदेश प्रदेश के सहकारी समिति मन के स्वतंत्र, निष्पक्ष अउ विधि सम्मत निर्वाचन कराए बर राज्य सहकारी निर्वाचन आयोग के गठन करे गए हे।




श्री दयालदास बघेल हर कहिस कि कोनो राज्य के पर्यटन ओ राज्य के सांस्कृतिक धरोहर, संस्कृति कला अउ प्राकृतिक सुन्दरता ल दुनिया के सामने लाय के सरल माध्यम होथे। राज्य मं पर्यटन स्थल मन के चरणबद्ध योजना के संग विकास करे जात हे। पर्यटन स्थल मन के विकास बर केन्द्र सरकार के स्वदेश दर्शन योजना के तहत सौ करोड़ रूपया के ट्रायबल टूरिज्म सर्किट के स्वीकृति प्राप्त हो गए हे, जेमां जशपुर, कुनकुरी, मैनपाट, अम्बिकापुर, महेशपुर, रमनपुर, कुरदर, सरोदादादर, गंगरेल, कोंडागांव, नथिया-नवागांव, जगदलपुर, चित्रकोट अउर तीरथगढ़ के पर्यटन स्थल मन के विकास करे जात हे। एही प्रकार से रामायण सर्किट ल विकसित करे बर शिवरीनारायण, राजिम अउ सिहावा ल दण्डकारण्य सर्किट के रूप मं विकसित करे बर भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय हर सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान कर देहे हावे।
देश-विदेश मं प्रतिष्ठित पतंजलि योग संस्थान के माध्यम ले राज्य के प्रमुख हिल स्टेशन मैनपाट अउ जशपुर जिला के पण्ड्रापाट मं एक योग केन्द के स्थापना पी.पी.पी. मॉडल म करे जाय के प्रस्ताव हावे। पतंजलि योग संस्थान ले एखर सहमति देहे जा चुके हे।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">


loading...

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment