मुख्यमंत्री के अध्यक्षता म होईस जनजाति सलाहकार परिषद के बैठक

स्कूली लइका के आकस्मिक मौत म कुटुंब ल मिलही एक लाख रूपया के सहायता
आदिवासी विश्वविद्यालय के क्षेत्रीय अध्ययन केन्द्र बस्तर म खोले जाही
बीजापुर म हवाई पट्टी बर वन विभाग ल दे जाही दस करोड़ रूपिया




style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="6745940556"
data-ad-format="auto">


रायपुर 31 मार्च 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के अध्यक्षता म आज इहां आयोजित छत्तीसगढ़ जनजाति सलाहकार परिषद के बैठक म ए आशय के बहुत अकन महत्वपूर्ण निर्णय लिए गीस। बैठक म ये घलोक तय करे गीस कि राज्य म जऊन जाति मन के नांव मन म स्पेलिंग के सामान्य गलती मन के कारण जाति प्रमाण-पत्र नइ बन पावत हे, वो मामला मन के निराकरण बर प्रदेश के आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप के नेतृत्व म विभाग के एक प्रतिनिधि मंडल ह दिल्ली जाके केन्द्रीय जनजातीय मामलों के कमिश्नर ले चर्चा करही। मुख्यमंत्री हर बैठक म उपस्थित अधिकारी मन ल ये सुनिश्चित करे के निर्देश दीन कि लोक सुराज अभियान 2017 के समय आठवीं कक्षा के शत-प्रतिशत बच्चा मन ल जाति प्रमाण-पत्र जारी कर दे जाए। नागवंशी समुदाय के बच्चा मन के जाति प्रमाण-पत्र जारी करे म आवत तकनीकी दिक्क्त ल देखत ये घलोक निर्णय ले गीस कि ओ मन ल अस्थायी जाति प्रमाण-पत्र जारी करे जाए अउ शिष्यवृत्ति, छात्रवृत्ति अउ छात्रावास मन म प्रवेश के सुविधा दे जाय। मुख्यमंत्री हर कहिन कि प्रदेश के स्कूल मन म पहली ले बारहवीं तक पढ़ाई करइया कोनो लइका के अगर कोनो कारन ले मृत्यु होही, त ओखर शोक संतप्त कुटुंब ल एक लाख रूपिया के सहायता दे जाही। ये निर्णय प्रदेश के जम्‍मो स्कूल मन म अउ जम्‍मो वर्ग के बच्चा मन बर लागू होही।
मुख्यमंत्री हर राजस्व विभाग के अधिकारी मन ल असर्वेक्षित रह गए लगभग 831 बसाहटी गांव मन के सर्वेक्षण आईआईटी रूड़की अउ आन एजेंसी मन के सहयोग ले एक साल के भीतर पूरा करे के निर्देश दीन। एखर अलावा राज्य के दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर अउ कोरबा के एजुकेशन सिटी परियोजना बर केन्द्रीय अनुदान खातिर प्रस्ताव घलोक जल्द बनाए के निर्देश दीन। बैठक म बताए गीस कि बस्तर संभाग के जिला मुख्यालय बीजापुर म हवाई पट्टी के निर्माण करे जाही। एखर बर वन विभाग के मांग के अनुसार दस करोड़ रूपिया दे जाही। वन विभाग हर हवाई पट्टी बनाए बर 37 हेक्टेयर जमीन के घलोक मांग करे हावय। बैठक म बताये गीस कि प्रदेश के आदिवासी छात्रावास मन अउ आश्रम शाला मन म बच्चा मन के सुविधा बर नवा व्यवस्था शुरू करे गए हे। एखर तहत आज के बैठक म लेहे गए निर्णय के अनुसार छोटे मरम्मत काम मन बर 50 सीट वाले हर एक छात्रावास अउ आश्रम शाला ल 25 हजार रूपिया अउ 100 सीट ले जादा के छात्रावास-आश्रम शाला मन ल 40 हजार रूपिया के अग्रिम राशि दे जाही। ये राशि अधीक्षक के नाम म जारी होही। मुख्यमंत्री हर बैठक म अधिकारी मन ल नक्सल पीड़ित मनखे के आश्रित मन के पुनर्वास बर विकासखंड मुख्यालय मन म स्थित नगर पंचायत मन म जरूरत के मुताबिक मकान देवाए के घलोक निर्देश दीन।
आदिम जाति विकास अउ स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप, गृह, जेल अउ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री रामलेवक पैकरा अउ परिषद के सदस्य के रूप म बहुत अकन जनप्रतिनिधि बैठक म सामिल होइन। मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, अपर मुख्य सचिव श्री एम.के.राउत अउ पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन.उपाध्याय सहित जम्‍मो संबंधित विभाग मन के प्रमुख सचिव अउ सचिव अउ आन वरिष्ठ अधिकारी घलोक बैठक म उपस्थित रहिन।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="6745940556"
data-ad-format="auto">

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment