आधुनिक समाज मं महिला मन के निर्णायक शक्ति के चिनहा ये महिला दिवस : डॉ. रमन सिंह

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस : मुख्यमंत्री ह महिला मन ल दीय बधाई अऊ शुभकामना




रायपुर, 07 मार्च 2017। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर काली 08 मार्च को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर म आम जनता, विशेष रूप ले महिला मन ल हार्दिक बधाई अऊ शुभकामना दीस हावे। डॉ. सिंह हर आज इहां जारी शुभकामना संदेश मं कहिस हे कि महिला दिवस आधुनिक समाज मं महिला मन के महत्वपूर्ण भूमिका अऊ ओखर निर्णायक शक्ति के चिनहा आए। दुनिया भर मं मनाए जाने वाले ये दिवस के सहारे महिला सशक्तिकरण के संदेसा जन-जन तक पहुंचथे। महिला मन आज चूल्हा-चौंका अऊ घर के चहार दीवारी ले निकल के ज्ञान-विज्ञान, शिक्षा, कला-संस्कृति अऊ खेलकूद संग सार्वजनिक जीवन के जम्‍मो क्षेत्र मन मं अपन सफलता के परचम लहराव हें।
मुख्यमंत्री हर कहिस के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व मं देश भर मं महिला मन के सामाजिक-आर्थिक विकास मं तेजी लाय बर ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान, सुरक्षित मातृत्व अभियान जइसन कई महत्वपूर्ण अभियान चलाए जात हावे। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत पूरा देश मं पांच करोड़ गरीब परिवार के महिला मन ल निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन दे के शुरूआत करे गए हावे। ये ह गरीब महिला मन के स्वास्थ्य अऊ ऊंखर सम्मान ले जुड़े महत्वपूर्ण योजना हे। डॉ. रमन सिंह हर कहिन के छत्तीसगढ़ मं घलोक महिला मन ल आत्मनिर्भर बनाए बर कई योजना सफलतापूर्वक चलरए जात हे। डॉ. सिंह हर कहें हे कि छत्तीसगढ़ सरकार हर राज्य के त्रि-स्तरीय पंचायत मन मं महिला मन ल पचास प्रतिशत के आरक्षण दे हावे। एखर अलावा शिक्षा सत्र 2014-15 ले राज्य मं कक्षा पहली ले कॉलेज स्तर तक बालिका मन बर निःशुल्क शिक्षा के प्रावधान करे गए हावे।
डॉ. सिंह हर एहूकहिन के छत्तीसगढ़ सरकार हर प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत राज्य भर मं तीन साल मं 35 लाख परिवार मन ल महिला मन के नाम म रसोई गैस कनेक्शन अऊ डबल बर्नर स्टोव के संग पहिली गैस रिफिलिंग के सुविधा सिरिफ दू सौ रूपए के अंशदान म देहे जात हावे। अब तक ए योजना मं राज्य के नौ लाख परिवार ल एल.पी.जी. गैस कनेक्शन देहे जा चुके हे। मुख्यमंत्री हर ये घलोक कहिन कि महिला मन के स्वास्थ्य म छत्तीसगढ़ सरकार विशेष रूप ले ध्यान देत हावे। जननी सुरक्षा योजना के सफल क्रियान्वयन ले राज्य मं संस्थागत प्रसव के आंकड़ा 70 प्रतिशत तक पहुंच गए हावे। महिला स्व-सहायता समूह मन ल आर्थिक रूप ले सृदृढ़ बनाय जात हावे अऊ ओ मन ल कई ठन रोजगारमूलक कुटीर उद्योग मन ले घलोक जोड़े जात हावे। ऊंखर कौशल उन्नयन म घलोक सरकार विशेष रूप ले ध्यान देत हे। महिला समूह मन ले तैयार सामान ल अच्छा बाजार दिवाए बर घलोक राज्य सरकार लगातार पहल करत हे।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment