पहुना संवाद म असम म रहवइया छत्‍तीसगढ़ वंशी मन संग होईस गोठ-बात





रायपुर, 24 मार्च 2017। संस्‍कृति संचालनालय छत्‍तीसगढ़ ह आज असम म रहवइया छत्‍तीसगढ़ वंशी अउ छत्‍तीसगढि़या मन संग 'पहुना संवाद' के आयोजन करिस। आज, काल अउ परन दिन सरलग चलइया ये कार्यक्रम म छत्‍तीसगढ़ वंशी मन संग गोठ-बात करके छत्‍तीसगढ़ के मूल संस्‍कृति, परम्‍परा अउ भाषा ल जाने समझे के अवसर मिलही। आज होए कार्यक्रम म अंदाजन दू सौ बछर पहिली खाए-कमाए बर असम गे छत्‍तीसगढ़ वंशी मन के 28 सदस्‍यीय प्रतिनिधि मंडल ह अपन बात रखिन। ठेठ छत्‍तीसगढ़ी भाषा म गोठ-बात करईया असम के छत्‍तीसगढ़ वंशी मन के अपन माटी अउ भाषा के प्रेम ह आज मंच ले घेरी-बेरी उमड़त रहिस।
कार्यक्रम म संस्‍कृति संचालक श्री आशुतोष मिश्र, वरिष्‍ठ साहित्‍यकार श्री जे.आर.सोनी, इतिहासकार अउ बख्‍शी सृजनपीठ के अध्‍यक्ष डॉ.रमेन्‍द्रनाथ मिश्र, संस्‍कृति सलाहकार श्री अशोक तिवारी अउ असम ले आए शंकर साहू अउ संगी मन के संग छत्‍तीसगढ़ के वरिष्‍ठ संगीतकार खुमान लाल साव, ब्‍लॉगर ललित शर्मा, साहित्‍यकार राम पटवा अउ संजीव तिवारी तको संबोधित करिस।
ये अवसर म छत्‍तीसगढ़ राज्‍य वित्‍त आयोग के अध्‍यक्ष श्री चंद्रशेखर साहू जी भी कार्यक्रम म उपस्थित होईन अउ असम म रहवइया छत्‍तीसगढ़ वंशी मन ल संबोधित करत मया अउ असीस दीन।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">


loading...


Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment