मुख्‍यमंत्री सफारी ले उतरकर के करिस आटो के सवारी, पुलिस मन पाछू-पाछू दउडि़ंन ओसरी पारी

मुख्‍यमंत्री आज मंझनिया लोक सुराज अभियान के तहत अंबिकापुर पहुंचिन, विश्रामगृह ले विभागीय समीक्षा बैठक मं सामिल होए ल निकलके जाय खानी तोरिन सुरक्षा घेरा, महिला चालक के ऑटो मं बैठके पहुंचिन कलेक्टरेट।





अंबिकापुर, 07 अपरेल 2017। आज सुकवार के मंझनिया मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह अंबिकापुर पहुंचिन। सर्किट हाउस मं अंदाजन डेढ़ घंटा थिराए के बाद संझा 4.30 बजे कलक्टोरेट मं होवइया विभागीय समीक्षा बैठक मं सामिल होए ल निकलिन। रस्‍ता म अपन काफिला ले अचानक उतरके सबला चमका दीन। गांधी चौक तीर मुख्यमंत्री अपन सफारी गाड़ी ले उतरिन अऊ एक महिला चालक के ऑटो मं बइठ के कलेक्टरेट कोति निकल परिन। ए बात ले कुछ बेर बर ऊंखर सुरक्षा मं लगे अधिकारी मन के बीच भागदौड़ी के स्थिति निर्मित हो गीस। जवान मन ऑटो के पाछू-पाछू दउड़े लगिन। मुख्‍यमंत्री ल ऑटो मं जात देखके अड़बड़ झन मनखे मन के भीड़ सड़क म लग गे। मुख्‍समंत्री कलेक्टरेट परिसर मं स्थित जिला पंचायत कार्यालय तक ऑटोच ले गीन फेर उहां उतरके महिला चालक ल पेटीएम ले तुरंते आटो किराया घलोक दीन।
मुख्‍यमंत्री के ए अजब-गजब अंदाज के शहर मं दिनभर चर्चा होत रहिस। जानकारी मिले हे कि मुख्‍यमंत्री सर्किट हाउस मं अंदाजन डेढ़ घंटा अराम करे के बाद उहां ले कलेक्टरेट के समीक्षा बैठक मं सामिल होए बर रवाना होदन। गांधी चौक म एसपी बंगला के आघू अचानक उमन अपन काफिला ले नीचे उतर गीन। उंखर अचानक उतरे ले सुरक्षा व्यवस्था मं लगे अधिकारी मन म अफरा-तफरी मच गे। उमन एक महिला ऑटो गीता सिंह ल रुकवाके ओखर से पहिली बात करिन। एखर बाद मुख्य सचिव बिवेक ढांढ के संग ऑटो मं बैठके समीक्षा बैठक मं सामिल होए बर रवाना हो गीन। ऑटो मं बइठके ओ मन सीधा जिला पंचायत कार्यालय पहुंचिन, उहां उमन ऑटो ले उतरे के बाद महिला चालक ल तुरंते पेटीएम ले डिजिटल भुगतान घलोक करिन।
मुख्‍यमंत्री ह पहिली गीता से वोखर नाम पूछिन अउ लाइसेंस हवय के नहीं पूछिन, फेर ऑटो म बइठिन। जानकारी मिले हे कि महिला ऑटो चालक गीता सिंह गुलाबी संघर्ष के नेतृत्व करथे। ओला मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के तहत ऑटो देहे गए हे। ऑटो चालक गीता सिंह हर बताइस कि मुख्‍समंत्री कौशल कार्यक्रम के तहत ही ओला ऑटो दे गए हे।








Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment