दंतेवाड़ा कलेक्टर श्री सौरभ कुमार ल मिलीस लोक प्रशासन के क्षेत्र म प्रधानमंत्री उत्कृष्टता पुरस्कार

दंतेवाड़ा जिला के पालनार गांव ल देश के पहला कैशलेस गांव बनाए के पहल म मिलीस पुरस्कार






रायपुर, 21 अप्रैल 2017। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिला दंतेवाड़ा ल सरकार के रीति-नीति के अनुसार कैशलेस बनाए के दिशा म करे गए सफलतम पहल म दंतेवाड़ा कलेक्टर श्री सौरभ कुमार ल लोक प्रशासन के क्षेत्र म प्रधानमंत्री के उत्कृष्टता पुरस्कार ले सम्मानित करे गइस। ये पुरस्कार हर साल सिविल सेवा दिवस के अवसर म, देश के कई जिला मन म सिविल सेवक मन के करे अभिनव काम बर प्रधानमंत्री कोति ले देहे जाथे।
ए साल ये पुरस्कार छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिला के कलेक्टर श्री सौरभ कुमार ल प्रदान करे गीस। उमन ये पुरस्कार आज 21 अप्रैल के दिन सिविल सर्विसेस दिवस के अवसर म नइ दिल्ली के विज्ञान भवन म आयोजित एक गरिमामय समारोह म प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के हाथ ग्रहण करिन। ए अवसर म प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्य मंत्री श्री जीतेन्द्र सिंह घलोक उपस्थित रहिन।
ए अवसर म अधिकारी मन बताइन कि शासकीय दिशा-निर्देश अउ शासन के रीति-नीति के अनुसार विमुद्रीकरण के दौर म दंतेवाड़ा कलेक्टर श्री सौरभ कुमार हर जिला ल कैशलेस बनाए के वृहद रणनीति तैयार करिन। एखर खातिर उमन अधिकारी मन ल, संस्था मन ल, समाज सुधारक मन के 11 जागरूकता टीम तैयार करिन, जऊन कि लगातार जघा-जघा गांव, कस्बा ,दुकान, व्यवसायी मन, आदि ल कैशलेस लेनदेन के दिशा म जागरूक करे के काम करंय। केवल 3 हफ्ता के भीतरेच जिला म 5 हजार मनखे डिजिटल आर्मी के सदस्य बनिन अउ लगभग 12 हजार 800 लोगन ल डिजिटली लेनदेन बर प्रशिक्षित करे गीस। दुकानदार मन ल प्रोत्साहित करे गीस कि ओ मन कऊन प्रकार 'एप' ल डाउनलोड करके ओखर उपयोग कर सकत हें।
अधिकारी मन हर ये घलोक बताइन कि ए दौरान दंतेवाड़ा जिला म जिला प्रशासन कोति ले जघा-जघा फ्री वाई-फाई इंटरनेट के व्यवस्था सुलभ कराए गीस। ए उदीम मन के प्रतिफल जिला म तेजी ले दिखे लगिस। दंतेवाड़ा जिला के कुआकोड़ा विकास खंड के अंदरूनी गांव पालनार ल प्रदेश के पहला कैशलेश ट्रांजेक्शन वाला जिला होए के गौरव हासिल होइस। इहां पूरा शॉपिंग काम्पलेक्स वाई फाई हावय। एखर खातिर प्रशासन हर इजीटॅाप पीओएस मशीन देवाइस। पूरा शापिंग काम्पलेक्स म चाहे दूध के दुकान हो, किराना हो या पंचर के दुकान हो। सब्बो दुकानदार इहां ई-पेमेंट के सुविधा प्रदान करथें। धीरे-धीरे दंतेवाड़ा अउ किरंदुल म लगभग 90 प्रतिशत व्यापारि मन हर कैशलेस पेमेंट ल अपना लेहे हें। अब जिला प्रशासन जिला म मनरेगा के अंतर्गत जम्‍मो भुगतान, पेंशन भुगतान अउ ग्राम पंचायत स्तर म जम्‍मो खरीदी ल डिजिधन के अंतर्गत प्रक्रिया म लेहे के काम चालू कर दे हावय।


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">


Dantewada Collector Mr. Saurabh Kumar bags Prime Minister Excellence Award in public administration sector
Award conferred for making Palnar village of Dantewada district Nation's first cashless village

Dantewada Collector Mr. Saurabh Kumar has been awarded Prime Minister Excellence Award in public administration sector for his successful initiative in the direction of making naxal-affected Dantewada district of Chhattisgarh 'cashless', as per the vision and mission of the government. Every year on the occasion of Civil Services Day, civil servants of various districts of the country are awarded at hands of Prime Minister for their innovative works.

This year this award has been conferred upon Collector of Dantewada District Mr. Saurabh Kumar. He received this award at hands of Prime Minister Mr. Narendra Modi in a prestigious function held at Science Building, New Delhi, on the occasion of Civil Services Day. State Minister of Prime Minister Office (PMO) Mr. Jitendra Singh was also present on this occassion.

Officials informed that as per the guidelines and strategy of government, during demonetization, Dantewada Collector Mr. Saurabh Kumar chalked out an extensive plan to make the district cashless. In the same sequence, he formed 11 teams of officials, organizations, social workers etc to create awareness among masses, villages, localities, shops, traders etc regarding cashless transactions. Within short span of three weeks, nearly five thousand people joined the digital army and nearly 12 thousand 800 people were trained in digital transactions. Shopkeepers were encouraged to download mobile apps that aid in cashless transactions.

Officials also informed that District Administration has facilitated free wi-fi internet facility at various places in Dantewada district. These initiatives and measures soon began to yield promising results. Palnar village of Kuakoda block in Dantewada district got the privilege of becoming the first village of cashless transactions. Administration facilitated easy-top POS machines in shopping complexes, dairy shops, general stores, puncture repair shops etc, to provide shopkeepers with the facility of e-payment. Gradually, nearly 90% of traders in Dantewada and Kirandul adopted the modes of cashless payment. Now, District Administration of Dantewada has begun the process of including payments and transactions under MNREGA, payment of pension to beneficiaries and also the procurements at Gram Panchayat-level cashless under Digi-Dhan.
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment