जनउला : बस्तर म रमन के चलथे, के रमन्ना के?





रायपुर, 25 अप्रैल 2017। सुकमा के बुरकापाल मं नक्सली हमला मं सीआरपीएफ के 25 जवान मन के शहीद होए के बाद बस्‍तर म ये जनउला फेर गूंजे लगे हे के बस्‍तर म काखर चलथे। पाछू बारा साल ले छत्‍तीसगढ़ म एके पार्टी के सरकार कुरसी कबजियाए हे अउ ओखर एके मुखिया राज चलावत हे। चारो मुड़ा विकास के झंडा फहरवईया रमन के उदीम बस्‍तर के नक्सल इलाका म घलोक दिखथे। धीरे-धीरे बस्‍तर म घलो सरकार ह अपन योजना मन के फायदा लोगन ल देवावत हवय। जन सुराज म बस्‍तर म जनता के बीच पहुच के रमन ह जनता बर अपन मया के चिन्‍हारी परगट करे हे।
दूसर बस्‍तर ल लाल बनाए बर नक्सली मन के जबर उदीम चलत हे विकास के गंगा ल रोके खातिर उमन रंग-रंग के उदीम करत हें। पुलिस अउ जनता मन ल मउत के घाट उतारत हें। बंदूक के नोक म गरीब जनता ल अपन बात माने बर बिबस करत हें। जउन उंखर बात नई मानत हे तेखर जन अदालत लगा के गला रेत देवंत हें। बस्‍तर के जंगल डहर के गांव के मन इन नक्‍सली के दहसत म, ना जी सकत हें ना मर सकत हें। ये नक्‍सली मन के मुखिया रमन्ना हे वो ह कमांडर हे जऊन ह सुकमा जिला मं एक ले एक एक अपराध करत हे। कथें के अबूझमाड़ के घना जंगल म ओखरे राज चलथे। एखरे सेती बस्‍तर म कथें कि बस्तर म काखर चलथे, रमन के, के रमन्ना के?


style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment