'रमन के राज म खुश हस ना?'





लोक सुराज सिविर म, मुनगा मिलिस हाथ म
बोझा एहसान के माढ़ गे, 'बढि़या' के माथ म
खामुस खा के बने असन, चुहक ले संगवारी
एसो के पाछू फेर हवय, रमन राज के पारी
लोक सुराज समाधान शिविर, ग्राम चंड़ी, तह. अभनपुर, जिला रायपुर म जब मैं दाई ल पूछेंव कि 'रमन के राज म खुश हस ना?' त वोकर जवाब बेटा हकलावत दीस। देखव-सुनव-



style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment