कोयला खदान बर अपन जमीन देहे, ग्रामीण नइ हें तैयार, विरोध म निकालिन रैली




रायगढ़, 14.04.2017। तमनार क्षेत्र म कोयला खदान खोले बर प्रशासन एपर दबाव बनाए के आरोप लगात अंदाजन डेढ़ हजार ग्रामीण मन मोर्चा खोल दे हावय। अइसन म अडाणी के मुश्किल बढ़त नजर आवत हे। बिरसपतवार को कोल ब्लाक प्रभावित ग्रामीण मन ह एक बड़का रैली निकालीन अउ शासन प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करिन। रैली के शुरुआत जनपद पंचायत तमनार से करे गीस, एखर से पहिली इहां ग्रामीण मन के एक बैठक आयोजित होइस अउ बैठक म निर्णय लेहे गीस कि कोल ब्लाक बर प्रशासन के तरफ ले बनाए जात दबाव ल कोनो हाल म बर्दाश्त नइ करन। अपन अउ अपन गांव के जमीन ल खदान बर नइ देंवन। एखर बाद ग्रामीण मन ह एक विशाल रैली निकालीन जऊन तहसील कार्यालय तक गीस। रैली म सामिल सरपंच अउ सचिव मन के कहना रहिस कि नोटिस तहसील आफिस ले जारी होए हावय एखर खातिर सुरू म उहां म अपन विरोध दर्ज करवाबोन अउ राज्यपाल, पर्यावरण मंत्रालय, कोयला मंत्रालय संग राष्ट्रपति ल ज्ञापन सौंपबोन।
आप मन जानतेच होहू कि तमनार क्षेत्र के गारे पेलमा ब्लाक ल खोले के कवायाद तेजी ले सुरू हो गए हे। ग्रामीण मन के कहना हावय कि ए खदान के आवंटन तो कोनो अउ ल होय हावय फेर खोदे के काम अडाणी के तरफ ले करे जात हावय। अडाणी ह ए क्षेत्र म अपन कार्यालय घलोक खोल लेहे हावय। पहिली चरण म 14 गांव एखर से प्रभावित होवत हावय। जेमां डोलेसरा, कुंजेमुरा, झिंकाबहाल, चितवाही, टिहली रामपुर, लिबरा, पाता, रोड़ोपाली, सरसमाल, गारे संग सराईटोला सामिल हावय। सरपंच मन के आरोप हावय कि प्रशासन के तरफ ले एनओसी बर दबाव बनाय जात हावय। बिरसपतवार को ग्रामीण मन के तरफ ले आयोजित रैली म 23 गांव के मनखे सामिल होए रहिन। जऊन ल जऊन मिलीस ओमा सवार होके अपन विरोध प्रदर्शन बर पहुंच गीन। कोनो साइकिल म आइन तो कोनो बाइक म आए रहिन।






Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment