छत्तीसगढ़ के कण-कण म बसे हावय भगवान श्रीराम : डॉ. रमन सिंह




मुख्यमंत्री सामिल होइन रामकथा म : संत श्री मोरारी बापू के करिन अभिनंदन
रायपुर, 19 अप्रैल 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज मंझनिया इहां राजधानी के इंडोर स्टेडियम म आयोजित श्रीराम कथा म सामिल होइन। मुख्यमंत्री अउ उंखर धर्मपत्नी श्रीमती वीणा सिंह के संग श्रद्धा से रामकथा सुनिन। उमन श्रीराम चरित मानस उपर माल्यार्पण करके प्रदेश के सुख-समृद्धि अउ खुशहाली बर आशीर्वाद मांगिन। डॉ. सिंह हर रामकथा सुनावत संत श्री मोरारी बापू के प्रदेश के जनता कोति ले हार्दिक अभिनंदन करत उंखर आशीर्वाद प्राप्त करिन।
मुख्यमंत्री हर ए अवसर म कहिन कि छत्तीसगढ़ के कण-कण म मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम के महिमा विद्यमान हावय। देश अउ दुनियां के संगें-संग छत्तीसगढ़ म घलोक रामकथा के सतत प्रवाह बने रहिथे। गांव-गांव म हर्षोल्लास के संग रामायण पाठ के आयोजन करे जाथे। मनखे मन रामचरित मानस श्रद्धा के साथ सुनथे अउ भगवान श्रीराम के आदर्श ल अपन जीवन पद्धति म अनुसरण करे के उदीम घलोक करथें। श्रीराम कथा आयोजन समिति, रायपुर ह 15 ले 23 अप्रैल तक रामकथा के आयोजन करे हावय।
मुख्यमंत्री हर कहिन कि छत्तीसगढ़ माता-कौशल्या के जन्म भूंइया अउ भगवान श्रीराम के ननिहाल आए। वनवास के बेरा भगवान श्रीराम के चरण कमल छत्तीसगढ़ के पुण्य धरती म पड़े रहिस। भगवान श्रीराम हर वनवासी मन के संग छत्तीसगढ़ म अड़बड़ बेरा बिलमें हें। छत्तीसगढ़ म शांति अउ भाई-चारा के वातावरण भगवान राम अउ संत मन के कृपा ले ही संभव होए हे। छत्तीसगढ़ म जम्‍मो वर्ग के बीच सद्भाव पूरा देश बर एक मिसाल हावय। मुख्यमंत्री हर कहिन कि संत मन के आशीर्वाद से आज छत्तीसगढ़ विकसित राज्य मन के श्रेणी म पहुंच चुके हावय। उमन कहिन कि कि राज्य सरकार के प्रयास आम आदमी के जीवन म बदलाव लाय के हावय। राज्य सरकार हर प्रदेश के 60 लाख गरीब परिवार ल खाद्य अउ पोषण सुरक्षा प्रदान करत ऊंखर खातिर दू वक्त के भरपेट भोजन के इंतजाम करे हावय। डॉ. सिंह हर संत श्री मोरारी बापू ले छत्तीसगढ़ उपर अपन आशीर्वाद बनाये रखे के आग्रह करिन। उमन श्री मोरारी बापू ले बस्तर अंचल म घलोक रामकथा बर समय निकाले के आग्रह करिन। उमन कहिन कि लगभग 25 साल बाद अउ छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के 17 साल बाद मोरारी बापू इहां आए हावय। मुख्यमंत्री हर उमन ले आग्रह करिन कि छत्तीसगढ़ ल समय-समय म ऊंखर सानिध्य म रामकथा सुनने के सौभाग्य मिलत रहे। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ए अवसर म रामायण आरती म सामिल होइन। ए अवसर म उद्योग मंत्री श्री अमर अग्रवाल, खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, अउ छत्तीसगढ़ पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री देवजीभाई पटेल संग हजारों के संख्या म श्रद्धालु मन उपस्थित रहिन।








Bhagwan Sri Ram lives in hearts of all Chhattisgarhis : Dr. Raman Singh : Chief Minister participates in 'Ram Katha'
Thousands of devotees take part in Morari Bapu's preachings


Chief Minister Dr. Raman Singh today attended the Sri RamKatha at the Indoor Stadium here. Dr. Raman Singh and Mrs. Veena Singh listened 'Ram Katha' with rapt attention . He garlanded Sri Ram Charith Manas and prayed for peace and prosperity of the entire State. Chief Minister welcomed Sant Sri Murari Bapu on behalf of the entire State and sought his blessings. He said Bhagwan Sri Ram resides in the hearts and minds of all citizens of the State. Ramkatha is heard in the entire world including Chhattisgarh. 'Ramayan Paat' is organized with enthusiasm in all the villages. The citizens not only just listen to Ramcharit Manas but try to follow the preachings in their daily lives. Ramkatha is organized by the Sri Ram Katha Organizing Committee from 15 to 23 April.
Chief Minister said that Chhattisgarh is the birth place of Mata Kaushalya. The footprints of Sri Ram fell on the pious land of Chhattisgarh during 'Vanvaas'. Bhagwan Sriram spent a lot of time with the forest-dwellers in the State. There is peace and prosperity in the State due to the blessings of Bhagwan Sri Ram and saints. The brotherhood prevailing in the State is a shining example for the rest of the country to emulate. The State had joined the list of developed ones due to the blessings of sants and pious men. The State Government had been making efforts to bring visible changes in the lives of poor and deprived sections of the society. The authorities had provided nutritious food security to 60 lakh poor families. Dr. Raman Singh requested Sant Morari Bapu to bless the State always and organize Ram Katha at Bastar also. Morari Bapu had graced the State after 25 years and 17 years after the formation of Chhattisgarh. Dr. Raman Singh participated in the 'Ramayan Aarti' . Industry Minister Mr. Amar Agrawal, Food Minister Mr. Punnulal Mohale, Public Works Minister Mr. Rajesh Munat, Chhattisgarh Text-Books' Corporation Chairperson Mr. Devjibhai Patel and thousands of devotees were also present.
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment