पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के 23वां दीक्षांत समारोह संपन्न

समाज के उन्नति बर काम करव : मुख्यमत्री







रायपुर, 09 मई 2017। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के 23वां दीक्षांत समारोह म मुख्य अतिथि अउ प्रसिद्ध वैज्ञानिक प्रो. आशीष दत्ता, समारोह के अध्यक्ष कुलाधिपति अउ राज्यपाल श्री बलरामजी दास टंडन, अति विशिष्ट अतिथि मुख्यमत्री डॉ. रमन सिंह के उपस्थिति म आज विश्वविद्यालय के विद्यार्थी मन ल पीएचडी के उपाधि अउ स्वर्ण पदक ले सम्मानित करे गीस। ए अवसर म कृषि मत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, उच्‍च शिक्षा मत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, रायपुर के सांसद श्री रमेश बैस, कुलपति डॉ. एस.के. पाण्डेय संग आन अतिथि उपस्थित रहिन।
समारोह म प्रसिद्ध वैज्ञानिक पद्मभूषण सम्मानित प्रो. आशीष दत्ता हर दीक्षांत भाषण दीन। उमन कहिन कि युवा ही ह देश के भविष्य हे। उमन विद्यार्थी मन ल सलाह दीन कि जऊन काम करव, दिल से करव अऊ अपन खुद के बनाए रद्दा म चलव। उमन कहिन कि हमेशा कुछ नवा काम, नवा अनुसंधान करे के कोसिस करव। कोनो भी काम ल मेहनत अऊ लगन से करहू त अवश्य ही सफलता मिलही। उमन कहिन कि छत्तीसगढ़ आके मोला अड़बड़ खुसी होईस।
राज्यपाल श्री टंडन हर ए अवसर म उपाधि अउ स्वर्ण पदक प्राप्त करइया जम्‍मो विद्यार्थी मन ल शुभकामना देवत कहिन कि केवल डिग्री हासिल करे ले सफलता नइ मिलय। स्कूल कॉलेज के बहुत अकन इम्तिहान उत्तीर्ण करे के बाद अब सबला जिंदगी के इम्तिहान देना हे। ए इम्तिहान बर अभी तक जऊन ज्ञान अर्जित करे हव, ओखर उपयोग करना हे। उमन कहिन कि संघर्ष अउ कठिनाई मन ले ही सफलता के रस्‍ता परखर होथे। जीवन म कभू जिम्मेदारी मन ले मुंह नइ मोड़ना चाही, बाधा मन ले घबराना नइ चाही, ओखर हमेशा हंसके मुकाबला करना चाही। बहुत अकन मनखे सफलता मिले के बाद लापरवाह हो जाथें। कुछ मनखे जिंदगी के राह म चले के पहिलीच हार मान लेथें। उमन युवा मन ल जोश के संग आह्वान करिन कि युवावस्था हमेशा नइ रहय, ते खातिर एकर समुचित उपयोग करना चाही।
राज्यपाल श्री टंडन हर कहिन कि विद्या धन सबले बढ़िया धन होथे अऊ ये वाले बांटे अउ बाढ़थे। आप मन के सफलता ले आप मन के विश्वविद्यालय के घलोक नाम रोशन होही। उमन कहिन कि हमेशा प्रदेश अऊ देश के विकास म योगदान देवव काबर कि जब देश मजबूत होही, तभे हम सब मजबूत होबोन। उमन छात्रा मन ल जादा संख्या म स्वर्ण पदक मिले म खुशी व्यक्त करिन।
मुख्यमत्री डॉ. रमन सिंह हर समारोह ल संबोधित करत कहिन कि आप मन सबके दमकत चेहरा अऊ आत्मविश्वास ले भरे चाल ल देखके में आश्वस्त हो गए हौं कि प्रदेश के भविष्य मजबूत कंधा मन म हे। उमन कहिन कि आप मन म विवेक, ज्ञान अऊ प्रतिभा के भंडार हे। अब डिग्री प्राप्त करे के बाद आप मन के समाज, राज्य अऊ राष्ट्र के प्रति जवाबदेही हे। इहां ले आप मन दायित्व बोध लेके जाहू अऊ समाज के उन्नति बर काम करहू, अइसन मोर विश्वास हे। उमन कहिन कि आप मन जहां जाव, अनुशासित रहके विश्वविद्यालय के गौरव बढ़ावव। उमन कहिन कि हजारों प्रतिभा इहां ले निकल के पूरा देश म छत्तीसगढ़ के नाम रोशन करत हें। उमन आशा व्यक्त करिन कि इहां एकदम नवा शोध होत रहिही। उमन डिग्री अऊ पदक प्राप्त विद्यार्थी मन अउ ऊंखर पालक मन ल घलोक बधाई दीन। डॉ. सिंह हर विश्वविद्यालय ल नैक ले ‘ए’ ग्रेड मिले म बधाई दीन अऊ कहिन कि सबके मेहनत ले ये संभव हो सके हे।
ए अवसर म उच्‍च शिक्षा मत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय हर कहिन कि युवा कहूं दृढ़ संकल्प अऊ विश्वास के संग कोनो काम करहीं त ओ मन हर ऊंचाई ल छू सकत हें। उमन कहिन कि भारत के ताकत इहां के युवा हे अऊ उमन ले सब ला बड़ आसा हे। उमन कहिन कि राज्य शासन शिक्षा के गुणवत्ता ल बेहतर बनाए बर सरलग उदीम होवत हे। समारोह म कुलपति डॉ. एस. के. पाण्डे हर स्‍वागत भाषण दीन। विश्वविद्यालय के तरफ ले प्रो. दत्ता ल डी.एस.सी. के मानद उपाधि देहे गीस। ए अवसर म 120 विद्यार्थी मन ल पी.एच.डी. अउ 66 विद्यार्थी मन ल स्वर्ण पदक प्रदान करे गीस। ए अवसर म कुल सचिव श्री धर्मेश कुमार साहू, जम्‍मो संकायों के डीन, प्रोफेसर अउ बड़ संख्या म विद्यार्थीगण अउ पालकगण उपस्थित रहिन।




style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">

Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment