प्रभारी मुख्य सचिव करिस समीक्षा

रायपुर, 29 मई 2017। प्रभारी मुख्य सचिव श्री अजय सिंह हर आज इहां मंत्रालय (महानदी भवन) म कई विभाग मन के वरिष्ठ अधिकारी मन के बैठक लेके मौसमी बीमारी मन के रोक-थाम अउ नियंत्रण के तैयारी मन के समीक्षा करिन। उमन बैठक म उपस्थित स्वास्थ्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, वन, पंचायत अउ ग्रामीण विकास, स्कूल शिक्षा, गृह, महिला अउ बाल विकास, नगरीय निकाय अउ राजस्व विभाग के अधिकारी मन ल आपसी समन्वय ले बरसात शुरू होए के पहिली जल-जनित अउ कीट जनित बीमारी जइसे उल्टी, दस्त, पीलिया, मलेरिया, डेंगू आदि ले निपटने बर सब्बो जरूरी तैयारी सुनिश्चित करे के निर्देश दीन। उमन बहुत मात्रा म दवई के भण्डारण, बरसात म पहुंच विहीन गांव मन म दवई के अग्रिम भण्डारण, बोरिंग के तीर-तखार म साफ-सफाई अउ कीट नाशक दवई मन के छिड़काव अउ नल-जल योजना अउ सार्वजनिक पानी टंकी मन के नियमित क्लोरिनेशन करे के निर्देश दीन।
बैठक म स्वास्थ्य विभाग के सचिव श्री अनिल कुमार साहू हर प्रस्तुतिकरण के जरिये मौसमी बीमारी मन ले निपटने बर करे गए तैयारि मन के जानकारी दीन। श्री साहू हर बताइस कि राज्य स्तर म कांबेक्ट टीम के गठन करे गए हे। ये मां राज्य आई.डी.एस.पी. इकाई अउ मेडिकल कॉलेज रायपुर के चिकित्सा विशेषज्ञ मनल सामिल करे गए हे। जिला स्तर म कलेक्टर मन के अध्यक्षता म घलोक चिकित्सक मन के टीम गठित करे गए हावय। पहुंच विहीन क्षेत्र मन म आंगनबाड़ी केन्द्र, संयुक्त वन प्रबंध समिति, स्कूल, पैरामिलिट्री/फोसेर्स, थाना मन अउ पंचायत स्तर म मौसमी बीमारी मन से निपटे खातिर दवई मन के भण्डारण करे गए हे। ग्राम स्तर म टोल फ्री नम्बर 104 निःशुल्क परामर्श सेवा के प्रचार-प्रसार करे जात हवय। उमन जिलेवार जरूरी दवई मन के मांग अउ पूर्ति के जानकारी दीन। बैठक म प्रभारी मुख्य सचिव श्री अजय सिंह हर आगामी मानसून के पहिली सब्बो विभाग मन से महामारी संभावित गांव मन म अपन अमला मुस्तैद रखे के निर्देश दीन। उमन ये घलोक कहिन कि सब्बो विभाग कोनो संभावित घटना ल नियंत्रित करे बर आपसी समन्वय ले जल्दी कार्रवाई करे बर तैयार रहव। बैठक म प्रमुख सचिव राजस्व श्रीमती रेणु पिल्ले, सचिव स्कूल शिक्षा श्री विकासशील, सचिव पंचायत अउ ग्रामीण विकास श्री पी.से. मिश्रा, सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी सुश्री शहला निगार, सचिव वन श्री अतुल शुक्ला संग आन अधिकारी उपस्थित रहिन।
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment