रबी फसल के कटाई के बाद बांचे कच्चा अवशेष ल खेत म दबाना चाही


  • उखर ले जमीन म जीवांश अउ पोषक तत्व मन के मात्रा बढ़ही

  • कृषि वैज्ञानिक मन अउ कृषि विभाग के अधिकारी मन हर दीन किसान मन ल सलाह






रायपुर, 23 मई 2017। कृषि वैज्ञानिक मन अउ कृषि विभाग के अधिकारी मन हर किसान मन से रबी फसल के कटाई के बाद खेत मनम बांचे कच्चा पउधा ल जलाए के जघा खेत म जोतई करके ओला भूंइया म दबाए बर कहे हें । उंखर कहना हवय के एखर ले भुंइया म जीवांश अउ पोषक तत्व मन के मात्रा बढ़ही। संगें-संग कच्चा अवशेष ल जलाए ले होवइया प्रदूषण ले घलोक बचे जा सकही।
कृषि वैज्ञानिक मन हर आज इहां जारी एक विशेष बुलेटिन म कहे हावंय कि सब्‍जी मन के अगेती फसल लेहे बर बीज मन के व्यवस्था करके थरहा लगाय के ये सही समय हे। कृषि वैज्ञानिक मन हर अदरक, हरदी अउ जिमीकंद लगाय के तैयारी करके एकर कांदा रोपे के सुझाव घलोक किसान मन ल देहे हावंय। अभी के समय म तेज धूप होए के संतह केला अउ पपीता के फल अउ पत्‍ती मन के झुलसे के संभावना हावय। गर्मी ले बचाव बर फल मन ल पट्टी अउ बोरा ले ढांक देना चाही। एखर अलावा केला अउ पपीता के पौधा मन ल गरम हवा ले बचाय बर वायु अवरोधक के उपयोग करे जाना चाही। ए मौसम म पानी ह जल्‍दी भाप बनत हे तउन ल देखत ड्रिप सिंचाई के उपयोग ल बढ़ाना जरूरी हावय।
कृषि वैज्ञानिक मन ह पशुपालक किसान मन ले कहे हावंय कि ओ मन अपन मवेशी मन ल गलघोटू अउ लंगड़ी बीमारी मन से बचाय बर टीकाकरण जरूर करवावंय। गर्मी म मवेशी मन ल रोजेच पानी म 50 ले 60 ग्राम नमक मिलाके पियाना चाही।








Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment