तालाब के मेड़ मं मुख्यमंत्री के लगिस चौपाल

मौके म गहरीकरण के काम के निरीक्षण अउ मजदूर मन ले गोठ-बात
अधिकारी मन ल क्षतिग्रस्त नहर मरम्मत के दीन निर्देश
पीपरछेड़ी म सामुदायिक भवन, सी.सी.रोड, तालाब म निस्तारी बर नलकूप खनन के मंजूरी







रायपुर, 03 मई 2017। प्रदेश व्यापी लोक सुराज अभियान के तहत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज हेलीकॉप्टर ले बलौदाबाजार-भाटापारा जिला के ग्राम पीपरछेड़ी (विकासखंड कसडोल) अचानक पहुंचिन। उमन उहां ‘पनखत्ती’ सिंचाई तालाब के मेड़ मं इमली पेड़ के छांव म चौपाल लगाइन अउ तालाब म मनरेगा के तहत चलत गहरीकरण के कार्य के निरीक्षण करिन। डॉ. सिंह हर तालाब गहरीकरण म लगे पुरूष अउ महिला मजदूर मन तिर बातचीत करिन अउ ऊंखर मस्टर रोल ल घलोक देखिन। प्रदेश के मुखिया ल अचानक अपन बीच पाके गांव वाले मन म आश्चर्य मिश्रित खुशी देखी गयी।
चौपाल म गांव वाले मन हर मुख्यमंत्री ल बताइन कि तालाब गहरीकरण म रोज करीब 235 मजदूर काम करत हें। डॉ. रमन सिंह हर चौपाल म पीपरछेड़ी के किसान मन के पांच साल जुन्ना मांग ल तुरंते पूरा करत अधिकारी मन ल गांव के नजदीक भुताही सिंचाई डायवर्सन के क्षतिग्रस्त नहर के मरम्मत तुरंते करवाए के निर्देश दीन। डॉ. सिंह हर गांव वाले मन के मांग मं पनखत्ती सिंचाई तालाब म निस्तारी सुविधा बर नलकूप खनन के स्वीकृति प्रदान करत उहां स्लूस गेट निर्माण बर सात लाख 50 हजार रूपया, पचरी निर्माण बर पांच लाख रूपया घलोक तुरंते मंजूर कर दीन। उमन गांव वाले मन के आग्रह मं पीपरछेड़ी म सामुदायिक भवन निर्माण बर छह लाख रूपया, रामायण चौक म छत निर्माण अउ वार्ड नम्बर-3 म 200 मीटर सीमेंट कांक्रीट सड़क निर्माण के स्वीकृति तुरंते दे के घोषणा करिन।
उमन चौपाल म गांव के लइका मन से उंखर पढ़ाई के बारे म अउ उंखर परिचय पूछिन। पहाड़ा अउ गिनती ल लेके घलो सवाल करिन। मुख्यमंत्री ल पांचवी कक्षा के बालिका सुनीता हर 14 के पहाड़ा सुनाइस। डॉ. सिंह हर ओला शाबाशी दीस। डॉ. रमन सिंह के पूछे मं सुनीता हर बताइस कि वो शिक्षिका बनना चाहथे। पूजा नाम के बालिका हर मुख्यमंत्री ल एक गीत सुनाइस अउ कहिस कि वो पढ़-लिखके डॉक्‍टर बनना चाहथे। मुख्यमंत्री हर ए बालिका मन ल आशीर्वाद दीन अउ चाकलेट घलोक बांटिन। उमन बालिका मन ल लोक सुराज के चिनहा चिन्ह वाला टोपी भेंट करके सम्मानित करिन।




style="display:block"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="4115359353"
data-ad-format="link">



style="display:block"
data-ad-format="autorelaxed"
data-ad-client="ca-pub-3208634751415787"
data-ad-slot="1301493753">


Chief Minister orders deepening of canals at 'choupal' : Dr. Raman Singh instructs officials to repair damaged canal banks


Sanctions community hall, roads at Peeparchhedi
Chief Minister Dr. Raman Singh's helicopter landed at village Peeparchhedi Development block Kasdol in district Balodabazaar-Batapara as a part of his State-wide 'Lok Suraaj' mission today. He conducted 'choupal' under the shades of Tamarind trees on the banks of 'Pankhatti' irrigation canal. He reviewed the repair works of the canal under the MGNREGA project. Dr. Raman Singh spoke to the workers at the canal site and observed the muster roll also. The villagers were excited on seeing Chief Minister Dr. Raman Singh amongst themselves.

The villagers informed the Chief Minister that 235 workers are employed in the deepening and widening of the canal on a daily basis. Dr. Raman Singh instructed the Irrigation Department officials to repair the Bhoothai Irrigation diversion canal as soon as possible. The demand had been pending for the past five years. Chief Minister sanctioned Rs Seven lakh 50 thousand for the construction of sluice gate and for the facility of exit of water from the Pankhatti irrigation canal. He also sanctioned Rs Six lakh for the construction of a community hall. He gave permission for the construction of roof at Ramayan Chowk and a cement concrete road.

Chief Minister Dr. Raman Singh queried about the studies with the school children at the village 'choupal'. Miss Sunita, a student of standard Fifth Standard recited the mathematical table 14 . Dr. Raman Singh lauded the girl for her recitation. The girl said that she wanted to become a teacher. Miss Pooja recited a song and added that her ambition was to become a doctor. Dr. Raman Singh blessed the students and distributed chocolates to them. He gave Lok Suraaj Mission caps and felicitated the girls.
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment