नवा रायपुर के जंगल सफारी के तर्ज म अब राजधानी के तीर नेचर सफारी

  • मोहरेंगा मं ‘प्रकृति दर्शन’ बर 1450 एकड़ मं आकार लेवत हे नेचर सफारी
  • मुख्यमंत्री के अध्यक्षता मं आयोजित बैठक मं देहे गीस जानकारी
रायपुर, 14 जून 2017। नया रायपुर मं बने जंगल सफारी के तर्ज म एक अऊ जंगल सफारी राजधानी रायपुर ले अंदाजन 40 किलोमीटर दूरिहा खरोरा-तिल्दा मार्ग म ग्राम मोहरेंगा मं तेजी से आकार लेवत हे। वन विभाग एला सिरिफ प्रकृति दर्शन बर विकसित करत हे, जिहां मनखे चिरई मन के चहल-पहल के संग जैव विविधता के घलोक अवलोकन कर सकही। विभागीय अधिकारी मन ह आज इहां बताइन कि ये वाले प्राकृतिक सफारी आकार मं नया रायपुर के जंगल सफारी ले बड़का होही। नवा रायपुर के जंगल सफारी 800 एकड़ मं हावे, जबकि मोहरेंगा मं आकार लेवत नेचर सफारी ह 580 हेक्टेयर मने 1450 एकड़ मं बनवाए जात हे। ये अंदाजन 12 किलोमीटर के दायरा मं विकसित होवत हे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हर प्रदेश व्यापी हरियर छत्तीसगढ़ अभियान के तैयारी बर इहां मंत्रालय मं काल आयोजित बैठक मं वन विभाग वन विभाग के मोहरेंगा नेचर सफारी के प्रोजेक्ट के प्रशंसा करिन। उमन अधिकारी मन से कहिन कि एखर नेचर सफारी ल अऊ बेहतर ढंग से विकसित करे जाए। डॉ. सिंह हर मोहरेंगा नेचर सफारी ल राष्ट्रीय स्तर म पहिचान दिवाए के जरूरत म बल दीन अऊ एखर बर अधिकारी मन ल एक विशेष कार्ययोजना जल्दी तैयार करे के घलोक निर्देश दीन। मुख्यमंत्री हर कहिन- प्रदेश के सबो जिला मन मं ए साल मानसून के समय वृक्षारोपण कार्यक्रम मन के समय अइसन वृक्ष मन के पौधा जादा से जादा मातरा मं लगाय के निर्देश दीन, जेमा चिरई अऊ तितली मन के चहल-पहल होवय। वन विभाग के अधिकारी मन हर बैठक मं बताइन कि मुख्यमंत्री के मंशा के अनुरूप खरोरा ले तीन किलोमीटर म मोहरेंगा के नेचर सफारी ल एखर जइसे विकसित करे जात हावे, जिहां चिरई मन के घलोक बसेरा होही। फिलहाल ए नेचर सफारी मं चीतल, जंगली सुअर अऊ खरगोश जइसन वन्यप्राणी घलोक आ गे हावें। मोहरेंगा मं नेचर सफारी प्रोजेक्ट वन विभाग कोति ले साल 2011 मं हाथ मं लेहे गए रहिस। उहां सघन वृक्षारोपण करे गए हे, जऊन पर्यावरण के दृष्टि से घलोक काफी उपयोगी हे। अब ये वाले काफी हरा-भरा हो गए हे। वन्य प्राणि मन बर उहां जल स्त्रोत घलोक विकसित करे गए हे। बैठक मं वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, पंचायत अउर ग्रामीण विकास के अपर मुख्य सचिव श्री एम.के राउत, वाणिज्य अउर उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री एन. बैजेन्द्र कुमार, योजना अउर आर्थिक सांख्यिकी विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री सुनील कुजूर, वन विभाग के प्रमुख सचिव वन श्री आर.पी. मण्डल आवास अउर पर्यावरण विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह संग कई विभाग मन के सचिव स्तर के वरिष्ठ अधिकारी अऊ कई औद्योगिक प्रतिष्ठान मन के प्रतिनिधि उपस्थित रहिन।
Share on Google Plus

About gurturgoth.com

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment