रमन सरकार के एक बड़का फैसला: किसान मन बर 'किसान मितान केन्द्र'


  • रमन सरकार के एक बड़का फैसला: किसान मन बर 'किसान मितान केन्द्र'
  • एक छत के नीचे किसान मन के समस्या मन के होही समुचित निराकरण
  • खेती-किसानी ले संबंधित जानकारी घलोक दे जाही
  • समस्या निराकरण बर होगी किसान मन के काउंसिलिंग

रायपुर, 30 जून 2017। किसान मन ल एके छत के नीचे खेती ले संबंधित कई ठन योजना मन के जानकारी देहे अऊ उंखर समस्या मन के समुचित निराकरण बर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व म प्रदेश सरकार ह किसान मितान केन्द्र के स्थापना के निर्णय लेहे गए हे। एकर स्थापना एक हफ्ता के भीतर कर दे जाही। मुख्यमंत्री के निर्देश म किसान मन के समस्या मन ल जाने अऊ समझके उचित समाधान करे अऊ ओ मन ल सलाह देहे बर राज्य के सबो 27 जिला मन म जिला मुख्यालय मन के स्तर म किसान मितान केन्द्र बनाए जाही।

राजस्व अऊ आपदा प्रबंधन विभाग ह आज इहां मंत्रालय (महानदी भवन) ले सबो संभागीय आयुक्त मन अऊ जिला कलेक्टर मन ल ए आशय के परिपत्र जारी कर दीस। राजस्व अऊ आपदा प्रबंधन मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ह विभागीय अधिकारी मन ले कहिन कि मुख्यमंत्री के आदेश म लउहे अमल करे जाए। परिपत्र म अधिकारी मन ले कहे गए हे कि एक हफ्ता के भीतर ए केन्द्र मन के स्थापना कर ले जाय। संभागीय आयुक्त अपन राजस्व संभाग के जिला मन म ए केन्द्र के स्थापना के कार्रवाई समय-सीमा म सुनिश्चित करहीं। राजस्व अऊ आपदा प्रबंधन मंत्री श्री पाण्डेय ह कहिन कि ये रमन सरकार के बहुत महत्वपूर्ण किसान हितैसी निर्णय हे। विभाग कोति ले जारी परिपत्र म कहे गए हे कि सबो जिला मुख्यालय मन म किसान मितान केन्द्र बनाय जाय, जऊन एक कंट्रोल रूम के रूप म होही। एखर लिए अलग ले टोल-फ्री नम्बर जारी करे जाही। जब तक टोल-फ्री नम्बर प्राप्त नइ हो जाए, तब तक जिला कार्यालय (कलेक्टोरेट) के ही एक टेलीफोन नम्बर ल चिन्हांकित करके किसान मितान केन्द्र (कंट्रोल रूम) शुरू करे जाए।

परिपत्र के अनुसार किसान मितान केन्द्र के संचालन बर स्थल चयन जिला कलेक्टर कोति ले करे जाही। किसान मितान केन्द्र म राजस्व, कृषि, सहकारिता, ग्रामीण विकास, ऊर्जा अऊ जल संसाधन विभाग संग सहकारी बैंक आदि के अधिकारी मन के ड्यूटी लगाए जाही। किसान मितान केन्द्र म टेलीफोन के माध्यम ले या व्यक्तिगत रूप ले आकर जानकारी चाहइया किसान मन के काउंसलिंग करे जाही। परिपत्र म अधिकारी मन ले कहे गए हे कि ओ मन ए केन्द्र म किसान मन के समस्या मन ल धैर्य के संग सुनंय अऊ ओ मन ल शासन कोति ले संचालित योजना मन के जानकारी देवंय। एखरे संग किसान मन ल देहे जात योजना मन के आधार म उंखर समस्या मन के निराकरण बर आश्वस्त करत जल्दी ले जल्दी जरूरी कार्रवाई करे जाय। अधिकारी मन ल ये घलोक निर्देश देहे गए हे कि ओ मन ए केन्द्र म संबंधित किसान मन अऊ उंखर समस्या मन के रिकॉर्ड घलोक रखंय अऊ उंखर समस्या मन के जानकारी संबंधित विभाग के जिला स्तर के प्रमुख अधिकारी ल भेजंय। कहूं कोनो समस्या के निराकरण सरकारी योजना मन के माध्यम ले संभव नइ हे, तो ए प्रकार के समस्या मन के जानकारी जिला कलेक्टर के माध्‍यम ले शासन के संबंधित विभाग ल तुरते भेजे जाय। शासन स्तर म संबंधित विभाग के सचिव से अइसन समस्या मन के निराकरण बर उचित निर्णय ले जाही। परिपत्र म कहे गए हे कि राज्य सरकार कई ठन विकास अऊ कल्याण योजना मन के माध्यम ले प्रदेश के सबो वर्ग के समस्या मन के समाधान बर कृत संकल्पित हे, फेर कभू-कभू जानकारी के अभाव म अकारण भटकाव, भ्रम या संशय के स्थिति निर्मित होए म विशेष रूप ले किसान परेशानी के अनुभव करथे। मानसून के आए के बाद किसान खेती ले संबंधित काम मन म भिड़ जहीं। तेकर सेती ओ मन ल प्रासंगिक जानकारी एके छत के नीचे जल्दी प्राप्त हो सकय। एखर लिए संबंधित विभाग मन के मैदानी अधिकारी मन के सक्रिय भूमिका अपेक्षित हे। इही उद्देश्य ले ये वाले निर्णय ले गए हे।

परिपत्र म ये घलोक बताए गए हे कि राज्य सरकार के कृषि विभाग कोति ले आत्मा योजना के तहत हर एक दू गांव मन के बीच एक किसान संगवारी (किसान मित्र) नामांकित करे गए हे। किसान हितैषी सरकारी योजना मन अऊ सुविधा मन के जानकारी किसान मन तक पहुंचाए बर किसान संगवारी मन के घलोक सहयोग लेहे जा सकत हे। परिपत्र म संभागीय आयुक्त मन अऊ जिला कलेक्टर मन ल विकासखण्ड अऊ जिला स्तर म किसान संगवारी मन के सम्मेलन या उंखर बैठक आयोजित करे के घलोक निर्देश देहे गए हे, ताकि ओ मन ल उहां देहे जात जानकारी के आधार म ओ मन किसान मन ल उचित समझाइश देके ओखर प्रभावी मदद कर सकंय।



Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment