करीब 34 हजार दिव्यांग छात्र-छात्रा मन ल मिलही फायदा : दिव्यांग छात्रवृत्ति के नवा दर घोसित


  • करीब 34 हजार दिव्यांग छात्र-छात्रा मन ल मिलही फायदा
  • दिव्यांग छात्रवृत्ति के नवा दर घोसित
  • छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद पहली पइत दिव्यांग लइका मन बर 
  • पहली पइत तय करे गइस राज्य छात्रवृत्ति के नवा दर
  • समाज कल्याण विभाग ह जारी करिस आदेश 


रायपुर, 02 जुलाई 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश म राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग ह दिव्यांग छात्र-छात्रा मन बर छात्रवृत्ति योजना जारी कर देहे हे। ये मां राज्य अऊ केन्द्र के छात्रवृत्ति के नवा दर घोसित करे गए हे। प्रदेश के 34 हजार दिव्यांग पढ़ईया लईका मन ल एकर लाभ मिलही। राज्य शासन कोति ले संचालित दिव्यांग छात्रवृत्ति कक्षा पहली ले बारवीं तक के नियमित पढ़ईया लईका मन ल मिलही। छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के करीबन सोला साल बाद पहली पइत नवा दर के निर्धारण होय हे। केन्द्रीय दिव्यांगजन छात्रवृत्ति के अंतर्गत प्री मेट्रिक छात्रवृत्ति 9वीं अऊ 10वीं के पढ़ईया लईका मन ल दे जाही, जबकि पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति 11वीं अऊ 12वीं कक्षा के दिव्यांग पढ़ईया लईका मन ल सबो पोस्ट मेट्रिक स्तर के पाठ्यक्रम म मिलही। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) संग पॉलिटेक्निक म तीन साल के डिप्लोमा पाठ्यक्रम, चिकित्सा, तकनीकी शिक्षा के स्नातक पाठ्यक्रम, स्नातक स्तर के व्यासायिक पाठ्यक्रम, कला, वाणिज्य अऊ विज्ञान के नियमित दिव्यांग पढ़ईया लईका मन ल घलोक पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति दे जाही। 
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह दिव्यांग छात्र-छात्रा मन बर छात्रवृत्ति के नवा दर के निर्धारण म खुसी परगट करे हे अऊ उम्मीद जताए हे कि जादा ले जादा दिव्यांग पढ़ईया लईका मन ल एकर लाभ मिलही। उल्लेखनीय हे कि मुख्यमंत्री डॉ. सिंह के  घोषणा जइसे समाज कल्याण विभाग ह दिव्यांग छात्रवृत्ति के नवा दर ल तुरंते प्रभाव ले लागू करे के निर्णय लेहे हे। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू ह विभागीय अधिकारी मन ल ए दिशा म जरूरी कार्रवाई जल्दी सुरू करे के निर्देश देहे हे। समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा ह आज इहां बताइस कि नवा दर राज्य निर्माण के बाद पहली पइत निरधारित करे गए हे। एखर अलावा केन्द्र सरकार ह घलोक दिव्यांगजन मन के प्रति संवेदनशील दृष्टिकोन ले छात्रवृत्ति के नवा दर घोसित करे हे।
श्री बोरा ह बताइस कि प्रदेश के समाज कल्याण विभाग कोति ले सबो संबंधित अधिकारी मन ल परिपत्र के रूप म आदेश जारी कर देहे हे। ये वाले परिपत्र प्रदेश के सबो जिला कलेक्टर मन, जिला पंचायत मन के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मन, समाज कल्याण विभाग के संयुक्त संचालक अऊ उप संचालक, सबो जिला शिक्षा अधिकारी मन, आदिम जाति विकास विभाग के सहायक आयुक्त अऊ प्रदेश के सबो नगर निगम के आयुक्त मन अऊ नगर पालिका अउ नगर पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मन ल जारी करे गए हे।
परिपत्र म देहे गए निर्देस के मुताबिक छत्तीसगढ़ निवासी 40 प्रतिशत या ओखर ले जादा दिव्यांगता वाले विद्यार्थी, जऊन पाछू परीक्षा म उत्तीर्ण हो गए होही, ओ मन ल ए छात्रवृत्ति योजना मन के लाभ मिलही। प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति बर आवेदक के अभिभावक के सबसे अधिक वार्षिक आमदनी दू लाख रूपिया अऊ पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति बर आवेदक के अभिभावक के सबसे अधिक वार्षिक आमदनी ढाई लाख रूपिया होही। पूर्व माध्यमिक स्तर के छात्रवृत्ति बर कोनो आमदनी सीमा निरधारित नइ करे गए हे। राज्य शासन कोति ले या केन्द्रीय योजना मन बर केन्द्र सरकार ले छात्रवृत्ति अउ भत्ता के दर समय-समय म प्रशासकीय आदेस के संग निरधारित करे जाही। अभी हाल म दिव्यांग पढ़ईया लईका मन बर राज्य शासन कोति ले संचालित छात्रवृत्ति योजना म प्राथमिक स्तर म कक्षा पहली ले पांचवीं तक 100 रूपिया छात्रवृत्ति अऊ 50 रूपिया संधारण भत्ता मिलाके कुल 150 रूपिया हर महीना देहे जाही। पूर्व माध्यमिक स्तर म कक्षा 6वीं ले 8वीं तक 120 रूपिया के छात्रवृत्ति अऊ 50 रूपिया संधारण भत्ता मिलाके 170 रूपिया मासिक दिए जाही। केन्द्रीय दिव्यांगजन छात्रवृत्ति के अंतर्गत भारत सरकार कोति ले पढ़ईया लईका मन ल सीधा प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) के माध्यम ले राशि ऊंखर बैंक खाता म जमा करे जाही। एखर अंतर्गत कक्षा 9वीं ले 12वीं तक पढ़ईया लईका मन ल राज्य के दिव्यांगजन छात्रवृत्ति योजना ले अकतहा छात्रवृत्ति दे जाही, जऊन राज्य के दिव्यांगजन छात्रवृत्ति योजना के मद ले जारी होही। केन्द्रीय योजना के तहत प्री-मेट्रिक दिव्यांग छात्रवृत्ति के अंतर्गत हर एक विद्यार्थी ल हर महीना केन्द्रीय सहायता के रूप म 350 रूपिया अऊ राज्य योजना ले 190 रूपिया ए प्रकार 540 रूपिया मिलही। छात्रावास म रहइया अंतःवासी विद्यार्थी ल केन्द्रीय सहायता मद ले 600 रूपिया अऊ राज्य योजना ले 190 रूपिया, ए प्रकार ले 790 रूपिया मासिक छात्रवृत्ति मिलही। पुस्तक अऊ तदर्थ अनुदान 750 रूपिया वार्षिक होही। अंतःवासी विद्यार्थी ल ए मद म एक हजार रूपिया हर महीना देहे जाही। दृष्टि बाधित पढ़ईया लईका मन ल केन्द्र ले 160 रूपिया अऊ राज्य ले 100 रूपिया हर महीना वाचक भत्ता घलोक मिलही। अइसन दिव्यांग विद्यार्थी जऊन छात्रावास म नइ रहंय, ओ मन ल 160 रूपिया मासिक परिवहन भत्ता दे जाही। गंभीर दिव्यांग अर्थात 80 प्रतिशत या ओखर ले जादा दिव्यांगता वाले दैनिक पढ़ईया लईका मन ल हर महीना 160 रूपिया मासिक अनुरक्षक भत्ता दे जाही। छात्रावास मन म निवासरत, गंभीर अस्थि बाधित पढ़ईया लईका मन ल जउन मन ल सहायता के जरूरत हे, उमन ल सहयोग प्रदान करे बर कोनो सहायक ल रखे म 160 रूपिया मासिक सहायक भत्ता दे जाही। मानसिक रूप ले अविकसित अऊ मनोरोगी पढ़ईया लईका मन ल मासिक 240 रूपिया के कोचिंग भत्ता घलोक मिलही। 
समाज कल्याण सचिव श्री बोरा ह बताइस कि केन्द्रीय योजना के तहत पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति पूरा पाठ्यक्रम अवधि म दे जाही। ये मां रखरखाव भत्ता, चिकित्सा अऊ तकनीकी शिक्षा के स्नातक पाठ्यक्रम मन म अंतःवासी छात्र मन बर 1200 रूपिया अऊ आन (दैनिक) बर 550 रूपिया मासिक होही। व्यवसायिक पाठ्यक्रम मन के अंतर्गत स्नातक, डिप्लोमा सर्टिफिकेट, बीफार्मा, एलएलबी, बीएफएस, पैरा मेडिकल आदि पाठ्यक्रम मन म दैनिक छात्र मन बर हर महीना 530 रूपिया अऊ छात्रावास मन म रहइया पढ़ईया लईका मन बर हर महीना 820 रूपिया रखरखाव भत्ता दे जाही। पोस्ट मेट्रिक स्तर के पाठ्यक्रम मन म, जेमा प्रवेश बर सबसे कम योग्यता हाई स्कूल पास निरधारित हे, जइसे आईटीआई पॉलिटेक्निक आदि, ओमां दिव्यांग पढ़ईया लईका मन ल छात्रावास म रहे म 380 रूपिया अऊ गैर छात्रावासी होए म 230 रूपिया के मासिक रखरखाव भत्ता मिलही। ये वाले भत्ता 11वीं अऊ 12वीं के पढ़ईया लईका मन ल छात्रावासी होए म 190 रूपिया अऊ गैर छात्रावासी होए म घलोक 190 रूपिया राज्य योजना ले हर महीना दे जाही। पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति योजना म दृष्टि बाधित पढ़ईया लईका मन ल मासिक 240 रूपिया के वाचक भत्ता सबो पाठ्यक्रमों बर मिलही। गैर छात्रावासी दिव्यांग छात्र-छात्रा मन ल हर महीना 160 रूपिया के परिवहन भत्ता दे जाही। समाज कल्याण विभाग के 19 जून के ए परिपत्र म छात्रवृत्ति अऊ भत्ता के दर मन के बारे म विस्तृत जानकारी दे गए हे। ये मां ये घलोक बताए गए हे कि छात्रवृत्ति बर ऑनलाईन आवेदन करना होही। केन्द्रीय छात्रवृत्ति बर ऑनलाईन आवेदन के प्रारूप नेशनल ई-स्कॉलरशिप पोर्टल म अऊ राज्य छात्रवृत्ति बर छत्तीसगढ़ सरकार के वेबसाइट www.sw.cg.gov.in  म हे। ये मां पढ़ईया लईका मन ल एक आईडी मिलही, जऊन पूरा शैक्षणिक अवधि बर मान्य होही। आवेदन के हर साल नवीनिकरण करे जाही। कक्षा 9वीं अऊ ओखर से कम के कक्षा मन के पढ़ईया लईका मन ल राज्य के अकतहा सहायता बर अलग ले आवेदन करे के जरूरत नइ होही। केन्द्रीय छात्रवृत्ति के आवेदन पत्र म ही एला अपन आप आवेदित माना जाही। ऑनलाईन आवेदन नइ कर पाय के स्थिति म जरूरी अभिलेख के संग दिव्यांग विद्यार्थी अपन शैक्षणिक संस्था म ऑफ लाईन आवेदन प्रस्तुत कर सकत हें। संस्था प्रमुख प्रधान अध्यापक अथवा प्राचार्य के ये दायित्व होही कि ओ मन ऊंखर ऑफ लाईन आवेदन मन म ऑनलाईन प्रविष्टि करवावंय। 
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment