सचिव ह करिस संस्कृति अउ पुरातत्व संचालनालय के निरीक्षण

रायपुर, 03 जुलाई 2017। राज्य शासन के पर्यटन, संस्कृति अऊ पुरात्व विभाग के सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ह आज इहां संस्कृति अउ पुरातत्व संचालनालय के निरीक्षण करिन। उमन संचालनालय परिसर म स्थित महंत घासीदास स्मारक संग्रहालय, गढ़-कलेवा, गढ़-हटरी अऊ संचालनालय के शाखा मन म पहुंचके उहां के कामकाज के जानकारी लीन। ए अवसर म संचालनालय के अधिकारी मौजूद रहिन। 
सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ह निरीक्षण के बेरा महंत घासीदास संग्रहालय म रखे गए महत्वपूर्ण पुरातत्वीय महत्व के मूर्ति मन, कला कृति मन अऊ महत्वपूर्ण चीज मन के बारे म अधिकारी मन ले जानकारी प्राप्त करिन। श्रीमती सिंह ह संग्रहालय के साफ-सफाई अउ आन व्यवस्था मन के संबंध म अधिकारी मन ल जरूरी निर्देश दीन। इही प्रकार ले संग्रहालय परिसर म संचालित छत्तीसगढ़ी व्यंजन मन के बिक्री केन्द्र गढ़कलेवा के घलोक निरीक्षण करिन। गढ़कलेवा संचालित करइया मोनिषा महिला स्व सहायता समूह के संचालिका श्रीमती सरिता शर्मा ले जानकारी लीन। श्रीमती सिंह ह संस्कृति विभाग के अधिकारी मन ल निर्देशित करिन कि गढ़कलेवा म पॉलीथिन के उपयोग नइ करे जाए। उमन उहां बइठे बर बांस ले बने कुर्सी के व्यवस्था करे के निर्देश दीन। गढ़कलेवा म साफ-सफई रखे म विशेष जोर दीन। परिसर म स्थित गढ़-हटरी म निरीक्षण के बेरा उमन पर्यटन विभाग के सूचना केन्द्र के घलोक निरीक्षण करिन। कला, पुरातत्व विक्रय केन्द्र के निरीक्षण करत कला कृति मन के बिक्री के घलोक उमन जानकारी लीन। संस्कृति सचिव ह अधिकारी मन ल कहिन कि राज्य के कई ठन ऐतिहासिक अउ पुरातत्व के महत्व के स्थान मन के बारे म साहित्य तैयार करे म पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के पुरातत्व विभाग के घलोक सहयोग लेहे जाय। संस्कृति सचिव ह हमर छत्तीसगढ़ योजना के अंतर्गत अध्ययन भ्रमण म आवइया पंचायत अउ सहकारिता के प्रतिनिधि मन ल संग्रहालय के अवलोकन कराए ल कहिन अऊ राज्य के कई ठन पुरातात्विक अउ ऐतिहासिक महत्वपूर्ण स्थल, कलाकृति मन के वीडियो क्लीपिंग तैयार करके हमर छत्तीसगढ़ परिसर म प्रतिनिधि मन ल देखाय के घलोक निर्देश दीन। संचालनालय परिसर म स्कूली छात्र-छात्रा मन के वर्कशॉप आयोजित कर पुरात्वत्व, संस्कृति के महत्वपूर्ण जानकारी देहे के घलोक निर्देश दीन। ए अवसर म संस्कृति संचालक श्री आशुतोष मिश्रा, उप संचालक राहुल सिंह, श्री प्रताप पारख संग आन अधिकारी मौजूद रहिन। 
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment