कृषि मंत्री ह अऋणी किसान मन ले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना म सामिल होए के करिन अपील

करीबन तीन लाख अऋणी किसान मन ल योजना के दायरे म लाय के लक्ष्य

रायपुर, 10 जुलाई 2017/ कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ह अऋणी किसान मन ले खरीफ मौसम 2017 बर लागू प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना म सामिल होए के अपील करें हें। उमन आज इहां जारी अपील म कहिन हे कि बीमा योजना के तहत अधिसूचित फसल लेवइया सबो गैर ऋणी किसान स्वैच्छिक आधार म अनिवार्य कागद प्रस्तुत करके योजना म सामिल हो सकय। 
श्री अग्रवाल ह कहिन हे कि केन्द्र सरकार के अनुमोदन के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ह खरीफ मौसम 2017 बर प्रदेश के सबो जिला मन म प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू कर दे हे। उमन बताइस कि खरीफ फसल मन बर कृषि ऋण लेवइया किसान स्वाभाविक रूप ले ए योजना के दायरे म आ जाथें। प्रदेश सरकार ह ए साल घलोक जादा ले जादा गैर ऋणी किसान मन ल बीमा योजना म सामिल करे बर कार्यक्रम बनाय हे। ए बार करीबन खेती-किसानी बर ऋण नइ लेवइया करीबन तीन लाख किसान मन ल बीमा दायरे म लाय के लक्ष्य रखे गए हे। एखर बर विभाग के हर एक ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी ल एक सौ गैर ऋणी किसान मन ल बीमा योजना ले जोरे के लक्ष्य दे गए हे। प्रदेश म तीन हजार ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी कार्यरत हें।
श्री अग्रवाल ह बताइस कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत मुख्य फसल म धान सिंचित अऊ धान असिंचित ल अधिसूचित करे गए हे। आन फसल मन म मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, अरहर, मूंग अऊ उड़द ल बीमा दायरे म लाए गए हे। बीमा योजना बर ग्राम पंचायत मन ल इकाई बनाय गए हे। ए योजना म ऋणी अऊ अऋणी किसान मन जेमा भू-धारक व बटाईदार सामिल हे हिस्सा ले सकहीं। अइसन सबो किसान, जऊन अधिसूचित फसल उगावत हें अऊ वित्तीय संस्थान मन ले जिंकर मौसमी कृषि ऋणी के सीमा खरीफ 2017 बर एक अपरेल 2017 ले 31 जुलाई 2017 तक स्वीकृत या नवीनीकृत करे गए हे, अनिवार्य रूप ले सामिल रहिहीं। एके अधिसूचित क्षेत्र अउ अधिसूचित फसल बर अलग-अलग वित्तीय संस्थान मन ले कृषि ऋणी स्वीकृत होए के स्थिति म किसान मन ल एके वित्तीय संस्थान ले बीमा करवाना होही। अधिसूचित फसल लेवइया सबो गैर ऋणी किसान, जऊन ए योजना म सामिल होए के इच्छुक हें, ओ मन स्वैच्छिक आधार म अनिवार्य कागद प्रस्तुत करके योजना म सामिल हो सके हे। 
उमन बताइस कि खरीफ 2016 के निविदा के दर म खरीफ साल 2017 म अधिसूचित क्षेत्र मन म फसल बीमा काम करे जाही। नारायणपुर, कांकेर, कबीरधाम, रायगढ़, दुर्ग, कोण्डागांव, बिलासपुर, बलौदाबाजार, गरियाबंद, बलरामपुर, कोरिया, बीजापुर, महासमुंद, धमतरी, जशपुर, रायपुर, बस्तर, जांजगीर-चाम्पा, दंतेवाड़ा, राजनांदगांव अऊ सरगुजा जिला बर इफको टोकियो जनरल इंश्योरेंस कम्पनी ल योजना बर बीमा एजेंसी नियुक्त करे गए हे। अइसनहे सुकमा, मुंगेली, बालोद, बेमेतरा, सूरजपुर अऊ कोरबा जिला बर रिलायंस जनरल इंश्योरेंस कम्पनी ल प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बर बीमा एजेंसी बनाय गए हे।
कृषि मंत्री ह बताइस कि किसान मन से सबसे जादा देय प्रीमियम बीमित राशि के दू प्रतिशत अथवा सही प्रीमियम जऊन घलोक कम हो देय होही। शेष प्रीमियम राशि 50-50 प्रतिशत के मान ले केन्द्र अऊ राज्य सरकार के तरफ ले अनुदान के रूप म दे जाही। अधिसूचना के अनुसार अधिसूचित फसल मन के बोआई नइ होए, बीज निष्फल होए, सही रोपा नइ लगे, मौसमी प्रतिकूलता के कारण अधिसूचित फसल मन के बोआई ले कटाई के समयावधि म नुकसान होए, स्थानीय आपदा, फसल कटाई के उपरांत खेती मं सुखाए बर रखे गए फसल ल नुकसान होए के स्थिति म बीमा दावा के भुगतान नियमानुसार करे जाही।  
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment