लइका मन म गणित अऊ अंगरेजी के डर ल दूर करना होही: डॉ. रमन सिंह

  • मुख्यमंत्री ह स्कूल शिक्षा अऊ सम्पर्क फाउंडेशन के सहयोग ले तैयार सम्पर्क किट के करिस अनावरण
  • आठवीं कक्षा तक रूचिकर शिक्षण किट देहे जाही

रायपुर, 06 जुलाई 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह कहिन हे कि लइका मन म अंगरेजी अऊ गणित के डर ल भगाना होही। ये तभी संभव होही, जब ए दुनों विषय मन ल रूचिकर बनाए जाय। उमन कहिन कि ये प्रसन्नता के विसय हे कि स्कूल शिक्षा विभाग, सम्पर्क फाउंडेशन के मदद ले गणित अऊ अंगरेजी बर रोचक शिक्षण सामाग्री  तइयार करे गए हे। जब लइका खेल-खेल म गणित अऊ अंगरेजी पढ़हीं, त ओमां शिक्षा खातिर रूचि अऊ आत्मविश्वास बढ़ही। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह आज इहां नवीन विश्राम गृह म डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान के अंतर्गत सम्पर्क स्मार्ट शाला के अनावरण समारोह ल सम्बोधित करत रहिन। एखर अंतर्गत स्कूल शिक्षा विभाग कोति ले सम्पर्क फाउंडेशन के मदद ले तैयार करे गए अंगरेजी के शिक्षण सामाग्री ल राज्य के 33 हजार प्राथमिक शाला मन म वितरित करे जाही। 
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ह कहिन कि पाछू दू बछर ले प्रदेश भर म डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान चलाय जात हे। सबो के भागीदारी ले ए अभियान ल अच्छा सफलता मिलत हे। ए अभियान म सम्पर्क फाउंडेशन के घलोक बहुत बड़ योगदान रहे हे। उमन कहिन कि सरकारी स्कूल मन म कोनो निजी स्कूल के तुलना म संसाधन जादा हे। मेरिट म घलोक सरकारी स्कूल के लइका आगू रहत हें। कोचिंग म मनखे लाखों रूपिया खर्च करते हें, फेर आईआईटी, एनआईटी, पीईटी अऊ पीएमटी म सबले जादा लइका सरकारी स्कूल अऊ प्रयास विद्यालय के चुने जात हें। तेकरे सेती अपन लइका मन ल सरकारी स्कूल मन म पढ़ाए म संकोच नइ करना चाही। उमन बलरामपुर कलेक्टर के अपन बच्ची के सरकारी स्कूल म दाखिला कराए जाय के जिक्र करत कहिन कि ये दूसर मनखे मन बर घलोक अनुकरणीय हे। मुख्यमंत्री ह कहिन कि अभी पहली ले तीसरी तक के लइका मन ल सम्पर्क किट देहे जात हे। अवइया बछर म आठवीं तक के लइका मन ल एखर जइसे रूचिकर शिक्षण सामाग्री प्रदान करे जाही। 
कार्यक्रम के अध्यक्षता करत स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप ह कहिन कि प्राथमिक शिक्षा एक लइका के भविष्य के नींव हे। नींव जतका मजबूत होथे, ओतकेच ओखर बेहतर परिणाम मिलथे। उमन कहिन कि सम्पर्क फाउंडेशन के सहयोग ले पाछू साल राज्य के 33 हजार प्राथमिक शाला मन म गणित के शिक्षण सामान के वितरण करे गीस, जेखर अच्छा परिणाम मिले हे। श्री कश्यप ह ए साल अंगरेजी के शिक्षण सामान तैयार करे बर सम्पर्क फाउंडेशन ल बधाई दीन। एखर से लइका अंगरेजी बोले अऊ लिखे म सक्षम हो सकही। 
ए अवसर म सम्पर्क फाउंडेशन के संस्थापक श्री विनीत नायर ह राज्य म पाछू साल शाला मन म लागू रोचक शिक्षण सामान गणित कार्यक्रम के जइसे सम्पर्क स्मार्ट शाला अंगरेजी कार्यक्रम ल घलोक लइका मन बर बहुत उपयोगी बताइन। ये मां एक विशिष्ट अवाज यंत्र ’सम्पर्क दीदी’ के उपयोग करके अंगरेजी के पाठ मन म कहानी, कविता अऊ खेल गतिविधि मन ल सामिल करे हे। एखर संगेच थ्री-डी शिक्षण सामान ल कक्षा म प्रदर्शित करे जाही। सम्पर्क दीदी एक चार्जेबल उपकरण हे, जऊन बिना बिजली के कई ठन कक्षा मन म शिक्षक मन ह आसानी ले चला सकहीं। कार्यक्रम ल स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री विकास शील ह घलोक सम्बोधित करिन। 
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment