कृषि वैज्ञानिक मन ह दीन किसान मन ल सलाह

रायपुर, 08 जुलाई 2017। कृषि वैज्ञानिक मन ह धान के थरहा नर्सरी म खरपतवार नियंत्रण बर जरूरी सुझाव दीन हे। उमन आज इहां जारी विशेष कृषि बुलेटिन म कहिन हे कि थरहा धान म अक्सर सांकुर पाना अऊ चौकोन पाना वाला खरपतवार उबजथे। ए खरपतवार मन के नियंत्रण बर थरहा डाले के तीन ले सात दिन के भीतर ब्यूटाक्लोर तीन लीटर दवा अऊ 500 लीटर पानी मिलाके प्रति हेक्टेयर छिड़काव करना चाही। 
कृषि वैज्ञानिक मन ह कहिन हे कि हल्का जमीन मन म 100 ले 115 दिन म पकइया किस्म- दंतेश्वरी, पूर्णिमा, इंदिरा, बारानी धान-1, अनंदा, समलेश्वरी, एमटीयू-1010 अऊ आईआर-36 के बोआई करना चाही। कहूं किसान मन तीर ए किस्म मन के प्रमाणित बीज नइ हे, तो ओ मन अपन तीर के ए किस्म के बीज ल 17 प्रतिशत नमक के घोल अउ बाविस्टीन ले उपचार करके बोनी कर सकत हें। कतार बोनी धान म बोआई के तीन दिन के अंदर अंकुरण के पहिली निंदा नाशक पेंडीमेथेलिन 1.25 लीटर अउ 500 लीटर पानी के घोल बनाके प्रति हेक्टेयर खेत म छिड़काव करे के सलाह दे गइस। कृषि वैज्ञानिक मन ह किसान मन ल जल्‍दी अउ मध्यम अवधि के धान किस्म मन के कतार बोनी करे के सुझाव देहे हें। उमन कहिन हे कि ए किस्म मन के कतार बोनी करे ले बियासी के जरूरत नइ परय अऊ धान 10 ले 15 दिन पहिलिच पाक जाथे। 
कृषि वैज्ञानिक मन ह बताइन हे कि सोयाबीन म खरपतवार नियंत्रण बर बीज मन के अंकुरण के पहिली क्यूजोलाफाप-पी-एथिल, इमेजाथाइपर या पेन्डीमेथिलिन या मैट्रीबुजिन के छिड़काव अनुशंसित मात्रा म करे जाना चाही। उकठा बीमारी ले ग्रसित क्षेत्र मन म राहेर के संग ज्वार के मिलवा खेती करे ले राहेर म उकठा के रोग कम लगथे। 
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment