खरीफ मौसम म अब तक 11.63 लाख हेक्टेयर म बोनी

अपर मुख्य सचिव ह लीस कृषि आदान अउ फसल बीमा योजना के समीक्षा बैठक
रायपुर, 04 जुलाई 2017। कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव अऊ कृषि उत्पादन आयुक्त श्री अजय सिंह ह आज इहां मंत्रालय (महानदी भवन) म अधिकारी मन के बैठक लेके खरीफ फसल मन के स्थिति अऊ खाद-बीज वितरण व्यवस्था के समीक्षा करिन। विभागीय अधिकारी मन ह बैठक म बताइन कि चालू मौसम के समय प्रदेश म 48 लाख हेक्टेयर म खरीफ फसल मन के बोनी के लक्ष्य हे। ये मां ले अब तक 11 लाख 63 हजार हेक्टेयर म बोनी हो गए हे।
अधिकारी मन ह ये घलोक बताइन कि प्रदेश म अब तक सात लाख सात हजार 621 क्विंटल बीज के भण्डारण करे गए हे। जेखर जघा म पांच लाख 50 हजार क्विंटल बीज के वितरण करे जा चुके हे। इही प्रकार सात लाख 55 हजार 629 मीटरिक टन उर्वरक के भण्डारण करके चार लाख मीटरिक टन उर्वरक के वितरण करे गए हे। अपर मुख्य सचिव ह अधिकारी मन ल निर्देशित करिन कि बीज उर्वरक अऊ कीट नाशक मन के कई ठन स्तर म गुणवत्ता नियंत्रण के कार्रवाई सुनिश्चित करे जाय। उमन कृषि विभाग के संचालक ले कहिन कि ये सुनिश्चित करे जाए कि किसान मन ल गुणवत्ता विहीन सामाग्री मन के वितरण झन होवय। कोनो स्तर म गुणवत्ता विहीन सामाग्रीटिंग्स मन  के जानकारी मिले म तुरंते कृषि निरीक्षक मन से जांच कराए जाय। जांच म अमानक पाए जाही त संबंधित मन के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करे जाय। 
बैठक म अधिकारी मन कोति ले बताइए गीस कि प्रदेश म बहुत वर्षा हो गए हे। बोनी के काम युद्ध स्तर म जारी हे। सबो जिला मन म खाद-बीज के बहुत भण्डारण करे गए हे। कृषक मन के मांग के मुताबिक खाद-बीज देहे जात हे। अपर मुख्य सचिव ह अधिकारी मन ल निर्देशित करिन कि अइसन तहसील जहां 70 प्रतिशत ले कम वर्षा होए हे, वो तहसील क्षेत्र मन म विशेष ध्यान दे जाय। उमन प्रबंध संचालक मार्कफेड अउ अपेक्स बैंक अधिकारी मन ल संस्थागत उर्वरक वितरण म तेजी लाय के निर्देश घलोक दीन। अपर मुख्य सचिव ह संचालक कृषि ल कीटनाशक अऊ उर्वरक नियंत्रण परयोग शाला खोले के प्रस्ताव लउहे भेजे के निर्देश दीन। ए परयोग शाला बर राष्ट्रीय विकास योजना अंतर्गत वित्तीय स्वीकृति घलोक प्राप्त हो गए हे। 
बैठक म प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के समीक्षा करे गइस। समीक्षा म बताए गीस कि खरीफ साल 2016-17 म ए योजना के अंतर्गत बीमित कृषक मन ल 126 करोड़ 16 लाख के दावा भुगतान करे जा चुके हे। अपर मुख्य सचिव ह लाभान्वित कृषक मन ल सोशल ऑडिट कराए के निर्देश बीमा कंपनी मन ल दीन। एखर संगेच उमन जिला स्तरीय पर्यवेक्षण समिति के दस प्रतिशत लाभान्वित कृषक मन ल सत्यापन सुनिश्चित करे के निर्देश दीन। बैठक म उमन रबी मौसम 2016-17 म दावा भुगतान के गणना करके प्राप्त कृषक मन ल 15 दिन के भीतर क्षति-पूर्ति देवाए के निर्देश घलोक दीन। 
अपर मुख्य सचिव ह बताइन कि खरीफ फसल 2017 बर प्रधानमंत्री फसल बीमा बर आधार कार्ड अनिवार्य करे गए हे। ये मां किसान मन के बीमा करे ले लेके दावा भुगतान करे तक जमो प्रक्रिया पारदर्शी बनाए बर भारत सरकार कोति ले फसल बीमा पोर्टल म बैक अउ बीमा कंपनी मन ल पूरा व्‍यौरा दर्ज होही। उमन कहिन कि बीमा योजना म जादा ले जादा अऋणि, बटाईदार, अधिया ले कृषि करइया कृषक मन ल बीमा के परिधी म लाय बर व्यापक कार्य योजना तैयार करे अउ एकर व्यापक प्रचार-प्रसार कराए जाय। उमन फसल उत्पादन के सही आंकलन बर सत-प्रतिशत फसल कटाई परयोग मोबाईल एप के माध्यम ले कराने के निर्देश दीन। बैठक म प्रमुख सचिव राजस्व श्रीमती रेणु पिल्ले, सचिव कृषि श्री अनूप श्रीवास्तव, प्रबंध संचालक मार्कफेड श्री पी. अम्बलकर, बीज अउर कृषि विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री आलोक अवस्थी, संचालक कृषि श्री एम.एस. केरकेट्टा, संचालक उद्यानिकी श्री नरेन्द्र पाण्डेय अऊ राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के संयोजक श्री ब्रम्हसिंह संग आन अधिकारी उपस्थित रहिन। 
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

ठेठ छत्तीसगढ़िया. इंटरनेट में 2007 से सक्रिय. छत्तीसगढ़ी भाषा की पहली वेब मैग्‍जीन और न्‍यूज पोर्टल का संपादक. पेशे से फक्‍कड़ वकील ऎसे से ब्लॉगर.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment