खुमान लाल साव ल मिलिस संगीत नाटक अकादमी पुरस्‍कार

khuman-lal-sao

छत्तीसगढ़ी लोक संगीत के युगपुरुष अउ लोकमंच के सबले जादा सफलतम प्रस्तुति मन मे ले एक चन्दैनी गोंदा के संचालक श्री खुमानलाल साव ल 04 अक्‍टूबर 2016 म राष्ट्रपति महामहिम श्री प्रणव मुखर्जी ह प्रतिष्ठित संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार ले सम्मानित करिन। राष्ट्रपति भवन नई दिल्ली के दरबार हाल म आयोजित एक बड़का अउ मानकड़ी समारोह म राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ह श्री खुमानलाल साव समेत कला के क्षेत्र म उल्लेखनीय योगदान देवईया देश के चुनिंदा 43 कलाकार मन ल संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार ले सम्मानित करिन। ये समे म गुरतुर गोठ के संपादक घलव श्री साव जी संग राष्‍ट्रपति भवन म रहिन अउ सम्‍मान के साखी बनिन।

ये पुरस्कार म श्री खुमानलाल साव ल एक लाख रूपये के चेक, प्रशस्ति पत्र, ताम्रपत्र अउ अंगवस्त्रम देहे गईस। आप जमो मन जानत हावव के 14 बरिस के उमर ले संगीत साधना म रत श्री साव के कला यात्रा 87 वर्ष के उमर म आज ले चलत हे। छत्तीसगढ़ के समृद्धशाली लोक सांस्कृतिक परम्परा म रचे-बसे गीत मन म अउ नंदावत लोकधुन मन ल परिमार्जित करके अउ नवा कवि मन के छत्तीसगढ़ी रचना मन ल संगीतबद्ध करके उमन ल लोकप्रियता के नजर म हिन्दी फ़िल्मी गीत मन के समकक्ष खड़ा कर दीन। श्री साव के पूरा जीवन लोक संगीत ल समर्पित हे। पहिली घलोक कई ठन संस्था मन ले सम्मानित हो चुके श्री खुमानलाल साव जी प्रचार प्रसार से दूर रहि के अपन असल काम म मगन रहिथें। श्री साव ल संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार मिले ले पूरा छत्तीसगढ़ गौरवान्वित होए हे।
img_20161005_175659_hdr

दूसर दिन 05 अक्‍टूबर 2016 के दिन श्री खुमान लाल साव जी के चंदैनी गोंदा के कलाकार मन संगीत नाटक अकादमी के मेघदूत थियेटर म अपन प्रस्‍तुति दीन। खचा-खच भरे थियेटर म छत्‍तीसगढ़ी संस्‍कृति के पारंपरिक गाना मन म दर्शक मन पूरा 55 मिनट तक लगातार ताली बजावत रहिन। ये कार्यक्रम म कलाकार मन ल हबीब तनवीर के बेटी नगीन तनवीर ह सम्‍मानित करिन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *