कोण्डागांव म केन्द्रीय विद्यालय के मंजूरी : केबिनेट सचिव ह मुख्य सचिव मन के वीडियो कान्फ्रेसिंग म दीन जानकारी

रायपुर 03 अगस्त 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के विशेष उदीम ले छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिला कोण्डागांव म केन्द्रीय विद्यालय चालू करे के मंजूरी भारत सरकार कोति ले दे गए हे। भारत सरकार के केबिनेट सचिव श्री प्रदीप कुमार सिन्हा ह आज छत्तीसगढ़ संग कई ठन राज्य मन के मुख्य सचिव मन के बैठक म केन्द्रीय विद्यालय के स्वीकृति के जानकारी दीन। उमन छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित जिला मन म 465 अकतहा मोबाईल टॉवर लगाय के सैद्धांतिक स्वीकृति घलोक दीन। केन्द्रीय सचिव ह बताइस कि छत्तीसगढ़ के आठ नक्सल प्रभावित जिला मन म 707 नवा पोस्ट ऑफिस पास करे गए हे।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

बैठक म मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड ह नक्सल प्रभावित क्षेत्र मन म होत विकास कार्य मन के जानकारी देवत बताइन कि बस्तर संभाग के नक्सल प्रभावित 203 गांव मन मे ले 26 गांव मन म सुरक्षा के स्थिति म सुधार आए हे। राज्य शासन कोति ले ए सबो 26 गांव मन म विद्युतिकरण के काम लउहे चालू करे जाही। उमन अवगत कराइन कि प्रधानमंत्री जी कोति ले साल 2016-17 म सौर सुजला योजना के शुभारंभ करे गए रहिस। जेखर पहिली चरण म ग्यारह हजार सोलर पम्‍प मन के लक्ष्य के विरूद्ध बारह हजार 80 सोलर पम्प के स्थापना करइया हे। योजना के दूसर चरण म साल 2017-18 बर बीस हजार सोलर पम्प के स्थापना के लक्ष्य रखे गए हे। ए पम्‍प मन बर वित्तीय सहायता के प्रस्ताव एम.एन.आर.ई. म प्रकियाधीन हे। सचिव एम.एन.आर.ई कोति ले बताइए गीस कि छत्तीसगढ़ बर पांच हजार सोलर पम्प के स्थापना बर वित्तीय सहायता स्वीकृत करइया हे अउ बांचे पन्द्रह हजार पम्प बर वित्तीय सहायता के प्रकरण म लउहे फेसला लेहे जाही। श्री ढांड ह कहिन कि वनांचल क्षेत्र मन म सड़क मन के अलावा नहर मन के, विद्युत ट्रांसमिशन लाईन, ओ.एफ. से ले., पाईप लाईन, रेल्वे लाईन बर वन जमीन के अधिग्रहण करे बर राज्य सरकार ल अऊ उच्‍च अधिकार के संबंध म प्रस्ताव रखे गइस। केबिनेट सचिव ह ए प्रकरण म लउहे विचार करे के बात कहिन। बैठक म पुलिस महानिदेशक (नक्सल आपरेशन) श्री डी.एम. अवस्थी, प्रमुख सचिव वित्त श्री अमिताभ जैन, प्रबंध संचालक राज्य विद्युत वितरण कम्पनी श्री अंकित आनंद, विशेष सचिव वित्त डॉ. कमलप्रीत सिंह संग आन अधिकारी उपस्थित रहिन। 

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});