छोटू चायवाला – जेकर चाय भर नही, शायरी घलोक हे फेमस

आप म कोनो प्रतिभा हे त ओला कोनो रोक नई सके। कम पढ़े-लिखे होए के बाद घलव एक चायवाला अइसन शायरी करथे कि सुनइया के तबीयत खुस हो जाथे। बताथें कि, दिल्ली के मयूर विहार फेज एक, मेट्रो स्टेशन ले थोरिकन दूरिहा म पीर बाबा के गली म एक चायवाला हे, जेकर नाम ‘छोटू’ हे। छोटू ह चिराग राही नाम से बेहतरीन शेर लिखथे। छोटू अपन नज्म मन ल चाय के दुकान म चाय बनावत पकोथे अउ कलम ले ओला कागद म उतारथे। छोटू शायर अपन शायरी म शब्द मन ल अइसन गढ़थे कि जइसे प्रकृति ह ए कला वोला वरदान म देहे हे।
वोकर दुकान म चाय पियईया के भीड़ लगे रहिथे, चाय पियईया मन चाय के संग चिराग राही के शायरी सुनथें।