अनुसूचित जाति-जनजाति मन बर छत्तीसगढ़ जतका योजना कोनो राज्य म नइ हे: डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री ह करिस वन मड़ई के शुभारंभ
तेन्दूपत्ता श्रमिक मन के लइका मन के मेडिकल, इंजीनियरिंग पढ़ाई के पूरा खरचा देहे के घोषणा

रायपुर, 13 अगस्त 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह वन मड़ई के शुभारंभ करत कहिन -मैं ये दावा के संग कह सकत हौं, कि आप मन देश के कोनो राज्य म चले जाव, अनुसूचित जाति अऊ जनजाति के सामाजिक, आर्थिक विकास बर जतका योजना छत्तीसगढ़ म चलत हे, ओतका कोनो राज्य म नइ चलत हे। मुख्यमंत्री ह आज मंझनहा इहां विज्ञान महाविद्यालय के मैदान म आयोजित वन मड़ई के शुभारंभ करत ये बात कहिन। उमन तेंदूपत्ता मजदूर परिवार मन के लइका मन के मेडिकल, आईआईटी अऊ इंजीनियरिंग कॉलेज मन के पढ़ई के पूरा खर्च सरकार के तरफ ले देहे के घलोक घोषणा करिन। उमन कार्यक्रम म वनोपज श्रमिक मन के कल्याण योजना मन ले संबंधित कई ठन प्रकाशन मन के विमोचन घलो करिन। डॉ. सिंह ह छोटे वनोपज समिति अऊ वन प्रबंधन समिति मन ल लाभांश राशि के चेक घलोक वितरित करिन। कार्यक्रम के अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ह करिन।



डॉ. रमन सिंह ह मनखे मन ल सम्बोधित करत कहिन – राज्य के वनवासी बहुल क्षेत्र मन म शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली अऊ आन जरूरी सुविधा मन के तेजी ले विकास होवत हे। वो दिन अब दूरिहा नइ हे जब शिक्षा सुविधा मन के लाभ उठाके ए क्षेत्र के लइका मन घलोक डॉक्टर, इंजीनियर, आईएएस, आईपीएस जइसे प्रशासनिक अधिकारी बनहीं अऊ छत्तीसगढ़ संग देश के सेवा करहीं। वन मड़ई के आयोजन डॉ. रमन सिंह के सरकार के कल 14 अगस्त ल 5000 दिन पूरा होए के उपलक्ष्य म आयोजित करे गए रहिस। ये मां प्रदेश के कई ठन जिला मन के छोटे वनोपज सहकारी समिति अऊ वन प्रबंधन समिति मन के सदस्य मन ह हजारों के संख्या म हिस्सा लीन।



वन मड़ई ल अध्यक्षीय आसंदी ले विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ह अऊ विशेष अतिथि के आसंदी ले वनमंत्री श्री महेश गागड़ा ह घलोक सम्बोधित करिन। कार्यक्रम म श्रम अऊ खेल मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े, गृह, जेल अऊ लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, लोक निर्माण, घर अऊ पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत, महिला अऊ बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू , रायपुर के लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस अऊ राज्य छोटे वनोपज सहकारी संघ के अध्यक्ष श्री भरत साय, वनौषधि बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्रीनिवास मद्दी, वनौषधि बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री जे.पी. शर्मा, छोटे वनोपज सहकारी संघ के उपाध्यक्ष श्री टीकम टांडिया विशेष अतिथि के रूप म सामिल होइन। एकरे संग बहुत अकन वरिष्ठ जनप्रतिनिधि अऊ कई ठन संस्थामन के पदाधिकारी घलोक ए अवसर म उपस्थित रहिन।