दिव्यांगजन मन ल समाज म सम्मान अऊ प्रेम के जरूरत : डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री ह राज्य स्तरीय पुरस्कार समारोह म 101 प्रतिभावान दिव्यांगजन मन ल करिस सम्मानित
दिव्यांगजन मन बर रायपुर म कॉलेज जल्दी शुरू करे के वादा

रायपुर, 01 सितमबर 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह कहिन हे कि दिव्यांगजन मन ल समाज म सम्मान अऊ प्रेम के जरूरत हे। उमन कहिन कि दिव्यांगजन मन म प्रतिभा के कमी नइ हे। ओ मन उत्साह अऊ विश्वास के संग आगू बढ़ंय। राज्य सरकार अऊ समाज ऊंखर संग हे। हम सबके ये प्रयास हे कि समाज म दिव्यांगजन मन के भागीदारी जादा ले जादा होवय। मुख्यमंत्री ह कहिन कि दिव्यांगजन मन बर राजधानी रायपुर म जल्दीच महाविद्यालय चालू होही। मुख्यमंत्री आज इहां नवा रायपुर स्थित श्री सत्य सांई सौभाग्यम आडिटोरियम म दिव्यांगज मन अऊ मेधावी पढ़ईया लईका मन के सम्मान बर आयोजित ’’दिव्यांगजन राज्य पुरस्कार क्षितिज-अपार संभावनाएं’’ समारोह ल सम्बोधित करत रहिन। उमन समारोह म 101 दिव्यांगजन मन ल सम्मानित करिन। एमां हाईस्कूल अऊ हायर सेकेण्डरी बोर्ड परीक्षा मन म सबले जादा नम्‍बर लेके पास होए विद्यार्थी अऊ लोक सेवा आयोग अउ आन प्रतियोगी परीक्षा मन म उत्तीर्ण दिव्यांगजन सामिल हे। डॉ. सिंह ह एकर अलावा दिव्यांगजन मन के कल्याण के क्षेत्र म सर्वश्रेष्ठ कार्य बर बालोद जिला ल घलोक सम्मानित करिस। उमन दिव्यांग कल्याण बर कार्यरत पांच संस्था मन ल घलोक पुरस्कार दीन।
समारोह के अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ह करिन। गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, महिला अउ बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू अऊ पूर्व संसदीय सचिव श्री विजय बघेल विशेष अतिथि के रूप म समारोह म उपस्थित रहिन। मुख्यमंत्री ह ए अवसर म कहिन कि दिव्यांगजन मन के शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधा मन, ओ मन ल सक्षम बनाए अऊ रोजगार ले जोरे बर राज्य सरकार कोति ले हर संभव प्रयास करे जात हे। उमन कहिन कि दंतेवाड़ा अऊ सुकमा जइसन दूरस्थ स्थान मन म दिव्यांग मन बर सर्व सुविधा वाला शिक्षा संस्थान स्थापित करे गए हे। दिव्यांग मन के कल्याण बर सबो जिला मन म अच्छा काम करे जात हे। मुख्यमंत्री ह कहिन कि दिव्यांगजन मन के कार्यक्रम म आके मोला सबले जादा खुशी होथे। मुख्यमंत्री ह कहिन कि कहूं दिव्यांगजन आगू बढ़े के ठान लय त कोनो ताकत ओला आघू बढ़े ले नइ रोक सकय। डॉ. सिंह ह ए संबंध म प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्टीफन हाकिंन्स, खिलाड़ी देवेन्द्र झांझरिया, सुश्री हेलेन केलर, श्री रविन्द्र जैन, श्रीमती सुधा चन्द्रन के उदाहरण देवत कहिन कि ए मनखे मन ह अपन-अपन क्षेत्र म ऊंचाई ल छूइन हे। ये मनखे मन ही सही म सुपर हीरो हें। मुख्यमंत्री ह समारोह म दसवीं अऊ बारहवीं के बोर्ड परीक्षा, स्नातक अऊ स्नातकोत्तर परीक्षा म सबले जादा अंक पवइया मेधावी पढ़ईया लईका मन, संघ लोक सेवा आयोग अऊ छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग के परीक्षा मन म सफल दिव्यांगजन मन अउ दिव्यांगजन मन के कल्याण बर काम करइया मनखे अऊ संस्था मन ल सम्मानित करिन। डॉ. सिंह ह जिला प्रशासन बालोद कोति ले दिव्यांगजन मन के सर्वागीण विकास अऊ कल्याण बर करे जात उत्कृष्ट कार्य बर बालोद जिला ल प्रदेश के सर्वात्तम जिला के रूप म सम्मानित करिन। मुख्यमंत्री ह ए अवसर म समाज कल्याण विभाग कोति ले प्रकाशित स्मारिका के विमोचन घलोक करिन।
कार्यक्रम के अध्यक्षता करत विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ह कहिन -दिव्यांगजन मन ल सक्षम बनाके समाज के मुख्यधारा म सामिल करे बर सरकार कोति ले हर संभव प्रयास करे जात हे। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती रमशीला साहू ह कहिन कि राज्य सरकार दिव्यांगजन शिक्षा प्रोत्साहन योजना क्षितिज अपार संभावनाएं एकीकृत योजना, सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना, छात्रगृह योजना आदि के माध्यम ले ऊंखर कल्याण बर काम करत हे। मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के माध्यम ले दिव्यांग मन ल घलोक तीर्थ यात्रा के अवसर देहे जात हे। समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा ह दिव्यांगजन मन बर संचालित योजना मन के बारे म विस्तार ले जानकारी दीन। उमन बताइन कि अभी हाल म प्रदेश म छै लाख 24 हजार दिव्यांगजन हे। समाज कल्याण विभाग के संचालक श्री संजय अलंग ह अभार प्रदर्शन करिन। ए अवसर दिव्यांगजन मन बर काम करइया संस्था मन के बहुत अकन प्रतिनिधि अऊ कई ठन संस्था मन के विद्यार्थी मन बढ़ संख्या म उपस्थित रहिन।