मुख्यमंत्री ह करिस ‘साहित्यकार श्री मुकुटधर पाण्डेय अऊ डॉ. विमल कुमार पाठक के साहित्य के तुलनात्मक अध्ययन’ विसय म पुस्तक के विमोचन

रायपुर, 07 सितमबर 2017। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह आज इहां अपन निवास कार्यालय म ‘साहित्यकार श्री मुकुटधर पाण्डेय अऊ डॉ. विमल कुमार पाठक के साहित्य के तुलनात्मक अध्ययन’ विसय म छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग कोति ले छत्तीसगढ़ी म प्रकाशित पुस्तक के विमोचन करिन। ए पुस्तक के लेखिका डॉ. रंजना मिश्रा हे। राजभाषा आयोग के अध्यक्ष डॉ. विनय कुमार पाठक ह ए अवसर म मुख्यमंत्री ल छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग के साल 2017 के स्मारिका अऊ राजभाषा आयोग कोति ले छत्तीसगढ़ी म प्रकाशित ‘श्रीमद् भगवत गीता’ के सौजन्य प्रति भेंट करिन। ए अवसर म साहित्यकार श्री राघवेन्द्र दुबे अऊ श्री विवेक तिवारी घलोक उपस्थित रहिन। मुख्यमंत्री ह पुस्तक के प्रकाशन म डॉ. विनय कुमार पाठक संग उपस्थित सबो मनखे मन ल बधाई अऊ शुभकामना दीन।



छत्तीसगढ़ राज भाखा आयोग ह सरकारी डायरी-कैलेण्डर म 28 नवम्बर के तारीक ल छत्तीसगढ़ी राज भाखा दिवस के रूप म अंकित करे के दीन सुझाव
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ले आज इहां ऊंखर निवास म सौजन्य मुलाकात के बेरा छत्तीसगढ़ राज भाखा आयोग के अध्यक्ष डॉ. विनय कुमार पाठक ह राज्य शासन के अवइया साल 2018 के डायरी अऊ कैलेण्डर मन म 28 नवम्बर के तारीक ल छत्तीसगढ़ी राज भाखा दिवस के रूप म अंकित करे के सुझाव दीन। डॉ. पाठक ह मुख्यमंत्री ल एखर संबंध म आयोग के तरफ ले सुझाव पत्र घलोक सौंपिन। मुख्यमंत्री ह कहिन कि ऊंखर सुझाव उपर गंभीरता ले विचार करे जाही। डॉ. पाठक ह मुख्यमंत्री ल बताइन कि 28 नवम्बर 2007 के दिन विधानसभा म छत्तीसगढ़ राज भाखा विधेयक पारित होय रहिस। ए ऐतिहासिक दिन ल यादगार बनाए रखे बर आयोग कोति ले हर साल 28 नवम्बर के दिन छत्तीसगढ़ी राज भाखा दिवस घलोक मनाया जात हे। पाछू साल 2016 म आयोग ह प्रदेश के स्कूल मन म राज भाखा दिवस मनाए रहिस। ए साल एकर विस्तार करत विश्वविद्यालय अऊ कॉलेज के स्तर म घलोक छत्तीसगढ़ी राज भाखा दिवस मनाए के तैयारी आयोग कोति ले करे जात हे। मुख्यमंत्री ह आयोग के गतिविधि मन के प्रशंसा करत हर संभव सहयोग के आश्वासन दीन।