महिला आयोग के कार्यशाला बिहाव के अनिवार्य पंजीयन नियम उपर विचार-विमर्श

छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग ह प्रदेश म बिहाव के अनिवार्य पंजीयन के जरूरत उपर बल देहे हें। आयोग के अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय के अध्यक्षता म ए हप्‍ता के नौ तारीख के दिन इहां नवीन थिरावन भवन के सभाकक्ष म आयोजित राज्य स्तरीय कार्यशाला म विस्तृत चर्चा के गइस। श्रीमती पाण्डेय ह कहिन कि प्रदेश म छत्तीसगढ़ विवाह पंजीयन नियम 2006 लागू हे। एखर बावजूद बिहाव के पंजीयन के संख्या कम हे। उमन कहिन कि एखर लिए मनखे मन म जागरूकता लाय अऊ पंजीयन करे वाले अधिकारी मन ल संवेदनशील होए के जरूरत हे। कार्यशाला म जिला पंचायत मन, जनपद पंचायत मन अऊ नगरीय निकाय मन संग महिला अउर बाल विकास विभाग के करीबन 140 अधिकारी अऊ कर्मचारी सामिल होइन। एखर अवसर म आयोग के सदस्य श्रीमती ममता साहू अऊ नगरीय प्रशासन विभाग के संयुक्त संचालक श्री एस.के. दुबे, आयोग के सचिव श्री आर.जे. कुशवाहा अऊ आन संबंधित अधिकारी उपस्थित रहिन।