ग्लोबल वार्मिंग एक बड़ी चुनौती: श्री महेश गागड़ा

वन मंत्री के अध्यक्षता म व्याख्यानमाला जलवायु बदलाव केन्द्र के तिमाही न्यूज लेटर के विमोचन रायपुर, 09 अकटूबर 2017/ वन मंत्री श्री महेश गागड़ा ह आज इहां छत्तीसगढ़ राज्य जलवायु बदलाव केन्द्र से प्रकाशित तिमाही न्यूज लेटर के पहिली अंक के विमोचन करे गीस। उमन जलवायु बदलाव केन्द्र के कार्यालय म आयोजित व्याख्यान माला के अवसर म एखर केन्द्र के वेबसाइट के घलोक शुभारंभ करे गीस। श्री गागड़ा ह व्याख्यान माला के अध्यक्षता करते होइन कहिन कि ग्लोबल वार्मिंग अथवा जलवायु बदलाव के समस्या आज पूरा दुनिया बर एक बड़ी चुनौती के रूप म हे। एखर से खेती-किसानी घलोक प्रभावित होती हे अऊ किसान मन ल घलोक समस्या के सामना करना पड़ता हे। श्री गागड़ा ह ग्लोबल वार्मिंग के रोकथाम बर वनों के संरक्षण अऊ जादा ले जादा संख्या म वृक्षारोपण के जरूरत म बल दे। उमन कहिन कि जलवायु बदलाव के समस्या के प्रति छात्र-छात्राओं म जागरूकता बढ़ाने के जरूरत हे।

व्याख्यानमाला म यूनेस्को के नवा दिल्ली ले आए वरिष्ठ अधिकारी डॉ. रामबूझ ह मुख्यवक्ता के रूप म अपन व्याख्यान दे। ओखर व्याख्यान ’जलवायु बदलाव, जैव विविधता अऊ सतत विकास’ विसय म केन्द्रित रहा। छत्तीसगढ़ राज्य जलवायु बदलाव केन्द्र के नोडल अधिकारी अऊ प्रधान मुख्य वन संरक्षक अउर वन बल प्रमुख डॉ. ए.ए. बोआज ह स्वागत भाषण दे। उमन बताइस कि संस्था से भारतीय प्राणी सर्वेक्षण के सहयोग ले छत्तीसगढ़ के वन्य जीव अभ्यारण्यों, टाईगर रिजर्व अऊ जैव विविधता जइसन विषयों म तेरह पुस्तकों के प्रकाशन करे गीस जा रहा हे। एखर अलावा जैव संग्रहालय के घलोक स्थापना के जा रही हे। व्याख्यानमाला म राज्य के बहुत अकन वैज्ञानिक, कई ठन शैक्षणिक अऊ शोध संस्थाओं के प्रतिनिधि, विश्वविद्यालयों के छात्र अऊ समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि घलोक सामिल होइन।