गृह मंत्री श्री पैकरा ह 11 ले जादा किसान मन ल दीन 18.12 करोड़ के बोनस

प्रदेश के कोरिया जिला मुख्यालय मनेन्द्रगढ़ के रामानुज मिनी स्टेडियम म आयोजित बोनस तिहार समारोह म प्रदेश के गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा ह कोरिया जिला के 11 हजार 47 किसान मन के खाता म 18 करोड़ 12 लाख रूपिया के बोनस राशि के लैपटाप म बटन दबाके ऑनलाईन भुगतान करिस। कार्यक्रम के अध्यक्षता श्रम, खेल अउर युवा कल्याण मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े ह करिस। ए मौका म श्री पैकरा ह कहिन कि मुख्यमंत्री डॉ.सिंह के अथक प्रयास ले आज किसान मन ल बोनस मिलत हे। बोनस तिहार ले किसान मन के सम्मान बाढ़े हे। श्री पैकरा ह कहिन कि मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ह एक साल पहिली किसान मन के खाता म सिंचाई सुविधा बर सौर सुजला योजना के तहत मामूली दर म 3 अउर 5 एच पी क्षमता के सोलर सिंचाई पंप देहे के निर्णय लेहे रहिन। जेखर सार्थक परिणाम सामने आए हे। उमन कहिन कि चालू साल 2017-18 म अब किसान मन ल एक ले लेके 5 एच पी तक के क्षमता वाले सोलर सिंचाई पंप मामूली दर म देहे जात हे। उमन छोटे किसान मन ल एक एच पी के सोलर सिंचाई पंप लगा के अपन आय म दुगुना वृध्दि कर आत्मनिर्भर अऊ स्वावलंबी बने के समझाईश दीन। श्री पैकरा ह ए मौका म श्रम विभाग के कई ठन योजना मन के तहत 5 हजार 733 श्रमिक मन ल 34 लाख 89 हजार के ई-रिक्शा अउर सायकल, मत्स्य विभाग कोति ले कई ठन योजना मन के तहत 170 हितग्राही मन ल 13 लाख रूपये के राशि ले आईश डब्बा अउर जाल, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 10 महिला मन ल गैस सिलेण्डर अऊ कृषि विभाग कोति ले प्रतीकात्मक स्वरूप म 5 किसान मन ल चना, सरसों अऊ मसूर के मिनी किट प्रदान करे गीस।
प्रदेश के श्रम मंत्री श्री भईयालाल राजवाडे ह बोनस तिहार बर जिला के किसान मन ल बधाई अऊ शुभकामना दीन। उमन कहिन कि छत्तीसगढ सरकार गांव, गरीब अउर किसान मन के सरकार ये। ऊंखर आर्थिक स्वावलंबन बर हर संभव प्रयास करे जात हे। धान किसान मन के आमदनी के मुख्य जरिया हे। उमन कहिन कि मुख्यमंत्री डॉ.सिंह कोति ले साल 2016-17 म समर्थन मूल्य म धान बेचइया राज्य के किसान मन ल 2 हजार 100 करोड रूपया के बोनस देहे जात हे। उमन कहिन कि ए साल 2017-18 म घलोक किसान मन ल बोनस देहे जाही। उमन किसान मन ल धान के अलावा दलहन, तिलहन, पशुपालन, मछलीपालन संग उद्यानिकी के खेती करे के सलाह दीन। बोनस तिहार कार्यक्रम ल संसदीय सचिव श्रीमती चंपादेवी पावले, मनेन्द्रगढ विधायक श्री श्याम बिहारी जायसवाल ह घलोक संबोधित करिन।