वनक्षेत्र मन म जल संवर्धन बर बनाए जाही डबरी-स्टापडेम : अचानकमार टाईगर रिजर्व के 19 गांव मन के होही व्यवस्थापन

वन मंत्री श्री महेश गागड़ा ह लीन अधिकारी मन के बैठक

रायपुर, 25 नवम्बर 2017। छत्तीसगढ़ म वन अउ वन प्रबंधन समिति क्षेत्र मन म बड़ अकन जल संवर्धन के काम लेहे जाही। पहिली चरण म बिलासपुर वनवृत्त के हाथी प्रभावित क्षेत्र रायगढ़ वनमण्डल ले ए काम के शुरूआत होही। वन मंत्री श्री महेश गागड़ा ह आज इहां ए संबंध म विभागीय प्रस्तुतिकरण के अवलोकन करिन अऊ ए परियोजना म काम शुरू करे बर हरी झण्डी दे दीन। अंदाजन 250 करोड़ रुनिया के लागत वाले ए परियोजना के अंतर्गत एक हजार 306 जल संरचना बनाए जाही। एमां प्रमुख तौर ले स्थानीय नदी-नाला मन म डेम, नहर अऊ खेत मन म डबरी आदि काम कन्वर्जेंस के आधार म करे जाही। मनरेगा, कैम्पा संग कई ठन विभागीय योजना ल मिलाके योजना म अमल करे जाही। हाथी मन ल स्थानीय स्तर म रोके के संगेच सिंचाई सुविधा बढ़ाके स्थानीय वनवासी मन के आमदनी म बढ़ोतरी करना ए परियोजना के प्रमुख उद्देश्य हे। वन मंत्री के शंकरनगर स्थित निवास कार्यालय म आयोजित बैठक म पीसीसीएफ श्री आर.के.टम्टा, पीसीसीएफ वाईल्ड लाईफ श्री आर.के.सिंह, एपीसीसीएफ श्री आनंद बाबू, डॉ. जितेन कुमार संग आन विभागीय वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहिन।




वन मंत्री श्री गागड़ा ह बैठक म बिलासपुर स्थित अचानकमार टाईगर रिजर्व के गतिविधि मन अऊ विस्थापन काम म प्रगति के घलोक समीक्षा करिन। उमन कहिन कि कोर एरिया ले विस्थापित होवइया वनवासी परिवार मन ल विस्थापित स्थल म जमो बुनियादी सुविधा मुहैया होए चाही। उमन ए परिवार मन ल राज्य सरकार के कई ठन योजना मन ले जोड़के ऊंखर कौशल विकास करे म जादा जोर दीन।




बैठक म अधिकारी मन ह बताइन कि कोर एरिया म अवइया 19 गांव मन के 3 हजार 700 परिवार मन ल आन जघा बसाए के कार्य-योजना तइयार करे गए हे। ऊंखर बर स्थल के चिन्हांकन घलोक कर ले गए हे। ए गांव मन के पुनर्वास म 500 करोड़ रुपिया के खरचा आही, जेमा 300 करोड़ रुपिया केन्द्र सरकार अऊ 200 करोड़ रूपिया राज्य सरकार कोति ले वहन करे जाही। पहिली चरण म रिजर्व एरिया के तीन गांव- तिलाईडबरा, बिराजपानी अऊ छिर्राहट्टा के विस्थापन करे जाही। पुनर्वास नीति के अंतर्गत हर एक प्रभावित परिवार ल 10 लाख रुपिया या 2 हेक्टेयर जमीन दे जाही। एखर संगेच नवा पुनर्वास गांव म राज्य सरकार के जमो योजना मन के सुविधा निःशुल्क मुहैया कराए जाही। वन मंत्री ह अचानकमार टाईगर रिजर्व म पर्यटक मन के सरलग बाढ़त संख्या म चुसी जाहिर करिन अऊ उंखर सुविधा बर तीन जिप्सी बिसाए के सहमति प्रदान करिन। उमन स्टाफ के कमी ल घलोक जल्दी पूरा करे के भरोसा देवाइन।