आइंस्टीन अऊ हॉकिंग से घलोक तेज हे ए नोनी के IQ

ब्रिटेन मं रहइया भारतीय मूल के 12 साल के राजगौरी पवार ह IQ टेस्ट मं आइंस्टीन अऊ स्टीफन हॉकिंग ल घलोक पीछू छोड़ देहे हे। ये बात दुनिया के सबले बड़े अऊ जुन्ना मेन्सा सोसाइटी के आईक्यू टेस्ट मं आघू आए हे।
अंगरेजी अखबार के खबर के मुताबिक, राजगौरी पवार पाछू महीना मैनचेस्टर मं ‘ब्रिटिशर मेन्सा आईक्यू टेस्ट’ मं संघरे रहिस अऊ ये मां ओला 162 नम्‍बर के स्कोर मिले रहिस। ये नम्‍बर अब तक के होए टेस्‍ट म 18 साल ले कम उमर म सबले जादा हे। ए हिसाब ले ओ हर आइंस्टीन अऊ हॉकिंग ल घलो पीछू छोड़ देहे हे। इंखर मन ले वोला 2 नम्‍बर जादा मिले हे। ए सफलता के बाद मेन्सा हर बयान जारी करके कहे हे कि भारतीय मूल के ये नोनी ‘विलक्षण बुद्धिमत्ता’ के हे। ये टेस्‍ट म, पूरा विश्व मं अइसन सिरिफ 20 हजार मनखे ही अतका जादा नम्‍बर लाए हांवय।
खबर हावय कि ए उपलब्धि के संग राजगौरी ल ‘ब्रिटिश मेनसा मेंबरशिप’ मिल गे, ये मेंबरशिप दुनिया भर के चुनिंदा ‘हाई आईक्यू लेवल’ बर दे जाथे। राजगौरी के पिताजी सूरज कुमार पवार हर ये बात म खुस होवत कहिस कि ये राजगौरी के गुरूजी मन के उदीम के बिना संभव नइ होतिस, मोर बेटी ल वोमन जउन सिखाईन-पढ़ाईन तउन ल वो ह बने सहिन धरिस।’ पुणे के रहवईया राजगौरी के पिताजी डॉक्टर सूरज कुमार पवार, मेनचेस्टर यूनिवर्सिटी मं रिसर्च साइंटिस्ट हे।
दुनिया के जाने-माने ये टेस्‍ट के बाद मेन्सा के सदस्यता ओही ल मिलथे जऊन एखर तय इंटेलिजेंस टेस्ट मं दू फिसदी के स्कोर हासिल कर पाथे। ए टेस्ट मं कुल 105 प्रस्न दे जाथे, कई देश मन मं ‘मेन टेस्ट’ ले पहिली ‘प्री टेस्ट’ घलव होथे। येमां सफल होए के बाद ही ‘मेन टेस्ट’ मं बइठे के मौका मिलथे। मेन्सा के स्थापना 1946 मं इंग्लैंड मं बैरिस्टर रोलैंड बेरिल अऊ वैज्ञानिक डॉ लैंस वेयर ह करे रहिन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *