अजय चन्द्राकर रायपुर

रायपुर जिला बर 40 हेल्थ अउ वेलनेस सेंटर के शुभारंभ

गरीब अउ साधन विहिन परिवार मन ल मिलही बेहतर स्वास्थ्य सुविधा : श्री रमेश बैस
निजी अस्पताल मन ले बेहतर हे राजधानी के अम्बेडकर अस्पताल : श्री अजय चन्द्राकर

रायपुर 27 अप्रैल 2018। आयुष्मान भारत योजना के तहत रायपुर लोकसभा के सांसद श्री रमेश बैस अऊ स्वास्थ्य अउ कुटुंब कल्याण मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ह आज आरंग विकासखण्ड के ग्राम मंदिर हसौद स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ले पहिली चरण म रायपुर जिला के 40 हेल्थ अउ वेलनेस सेंटर मन के इलेक्ट्रानिक बटन दबाके शुभारंभ करिस। श्री बैस ह शुभारंभ कार्यक्रम ल संबोधित करत कहिन कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ह देश म गरीब अउ आम जनमानस बर बेहतर चिकित्सा सुविधा देहे बर छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिला के ग्राम जांगला ले आयुष्मान भारत योजना के शुभारंभ करे रहिन, जऊन प्रदेश बर गौरव के बात हे। उमन कहिन कि कोनो मनखे ल बीमारी झन होवय एखर पहिलिच जांच कराना अऊ कहूं जांच म बीमारी पाए जाथे त ओखर सही दिशा म इलाज कराए बर हेल्थ अउ वेलनेस सेंटर कारगर साबित होही। श्री बैस ह बताइस कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन के तहत केन्द्र सरकार कोति ले देश के 10 करोड़ गरीब अउ साधन विहिन परिवार मन के स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करे के लक्ष्य रखे गए हे। ए मिशन के अंतर्गत सबो पात्र परिवार मन ल बहुत अकन बीमारी मन म पांच लाख रूपिया (प्रति कुटुंब प्रतिवर्ष) तक के चिकित्सा लाभ देश के हर अनुबंधित अस्पताल मन म मिलही। श्री बैस ह कहिन कि केन्द्र सरकार के योजना मन ल धरातल म बेहतर क्रियान्वयन ले ही विकसित राष्ट्र के सपना साकार होही।



स्वास्थ्य मंत्री श्री चन्द्राकर ह घलोक कार्यक्रम ल संबोधित करिस। उमन कहिन कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व म मनखे मन ल स्वास्थ्य लाभ पहुंचाए बर बेहतर ले बेहतर सुविधा देवावत हे। उमन कहिन राज्य सरकार आयुष्मान भारत योजना म तेजी ले अमल करत ए योजना के क्रियान्वयन शुरू कर देहे हे। ए आयोजन के पहिली चरण म आज रायपुर जिला के 40 हेल्थ अउ वेलनेस सेंटर शुरू करे जात हे। ए सेंटर मन के माध्यम ले एक छत के नीचेच मनखे मन ल शासन के बहुत अकन योजना मन के लाभ मिल सकही। श्री चन्द्राकर ह कहिन कि प्रदेश म कोनो निजी अस्पताल मन के तुलना म राजधानी रायपुर स्थित डॉ. भीमराव अम्बेडकर अस्पताल बेहतर हे। ए अस्पताल म बड़े ले बड़े बीमारी मन के इलाज करे जात हे। कैंसर जइसे जटिल बीमारी के इलाज के मामला म घलोक ये अस्पताल मध्यभारत म श्रेष्ठ अस्पताल हे।




श्री चन्द्राकर ह कहिन कि स्वास्थ्य सेवा मानवीय संवेदना ले जुड़े सेवा हे। जेखर सेती चिकित्सक, खांटी जानकार मन संग सबो अमला ल ध्यान म रखत काम करना चाही। उमन कहिन कि छत्तीसगढ़ देश म अकेल्‍ला अइसन राज्य हे जऊन प्रदेश के शत-प्रतिशत मनखे मन ल स्वास्थ्य लाभ पहुंचाए बर स्मार्ट कार्ड के संग 50 हजार रूपिया तक के निःशुल्क चिकित्सा सेवा देवत हे। संगेच जन जागरूकता बर आम सहभागिता ले काम करत हे, ताकि कोनो मरीज जानकारी के अभाव म गलत दिशा म इलाज झन करावंय। उमन अभी हाल परिवेश म मनखे मन ल स्वास्थ्य के दृष्टिकोण ले खान-पान, रहन-सहन, साफ-सफाई के प्रति सचेत रहे म बल देवंय। श्री चन्द्राकर ह कहिन कि प्रदेश म आज एम्स के स्थापना घलोक धरातल म हे। एकर लाभ राज्य के मनखे मन ल मिलत हे। छत्तीसगढ़ म शासकीय सेक्टर म पहली मल्टी सुपर-स्पेशिलिटी अस्पताल जल्दीच शुरू होवइया हे।
ए मौका म रायपुर जिला पंचायत के अध्यक्ष श्रीमती शारदा वर्मा, जनपद पंचायत आरंग के अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा कुर्रे, ग्राम पंचायत मंदिर हसौद के सरपंच श्रीमती धनपत गायकवाड़, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं श्रीमती रानू साहू, रायपुर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री नीलेश क्षीरसागर, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के संचालक डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे अऊ रायपुर जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अउ स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एस. के. शांडिल्य संग आन वरिष्ठ अधिकारी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, स्टॉफ नर्स अऊ बड़ संख्या म जनप्रतिनिधि अउ ग्रामीण उपस्थित रहिन।


मुहाचाही:  छत्तीसगढ़ ल खनन उद्योग म एक संग तीन राष्ट्रीय पुरस्कार