Success Stories Success story डॉ. रमन सिंह दंतेवाड़ा

दंतेवाड़ा के जवान मन म परिस्थिति मन ल बदले के ताकत-डॉ रमन सिंह

मुख्यमंत्री ह दंतेवाड़ा के सफल जवान मन के संग चाय म चर्चा करिन

दंतेवाड़ा, 23 मई 2018। मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने आज बिहनिया प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरा म रवाना होए के पहिली बचेली म दंतेवाड़ा जिला के सफल जवान मन ले मुलाकात करिन। डॉ. सिंह ह जवान मन के संग चाय पीयत गोठ-बात करिन अउ कहिन के जवान मन ह कठिन परिस्थिति मन से जूझत सफलता के परचम फहराए हें। इंकर ये सफलताएं दिखे म छोटे जरूर हे, फेर जेन हालात म इमन सफलता पाए हें, वो दूसर जवान मन बर प्रेरणादायी हे। मोला घलव अइसन जवान मन ले मिलके ऊर्जा मिलथे। उमन कहिन के वास्तव म इही विकास ये। जवान मन के उदीम ले दंतेवाड़ा अउ बस्तर म क्रांतिकारी बदलाव दिखत हे। ये जवान मन म बस्तर के परिस्थिति म बदलाव के ताकत हे।
चाय म चर्चा के दौरान श्रीमती सविता साहू ह ई-रिक्शा के माध्यम ले परिवार के भरण पोषण, श्री कार्तिक केजी और श्री मिथलेश कर्मा ह बेरोजगारी से रोजगार तक के सफर अउ श्री लूदरु नाग अउ श्री कमल नाग ह कृषि विभाग के सहयोग ले खेती ले आर्थिक समृद्धि के संदर्भ म मुख्यमंत्री मेरन जानकारी साझा करिन। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह कहिन के आज बस्तर विकास के दिशा म लउहे आघू बढ़त नवा सपना बुनत हे। सरकार के जनहितैषी योजना मन के उद्देश्य अंत्योदय हे। उमन आघू कहिन के सरकार ह बीते 15 बछर मम युवा, किसान अउ महिला मन के विकास बर कई ठन योजना बनाए हे, ये योजना मन से आज इंकर जइसे हजारों लोगन के जीवन म आए परिवर्तन ओकर फल आए। इहां आए म हर पइत मैं होनहार जवान मन ले मिलथंव अउ उंखर से प्रेरणा लेथंव। जवांगा बीपीओ म कार्यरत श्री इल्मीडी, बीजापुर निवासी श्री कार्तिक केजी बर इहां तक के सफर आसान नइ रहिस, लाल आतंक के डर से घर वाले मन कार्तिक ल बिलासपुर भेज दीन। बिलासपुर म पढ़ाई के दौरान उमन ल जवांगा बीपीओ म जॉब ओपिंग के जानकारी मिलिस। परिवार के आर्थिक मदद करे वो दंतेवाड़ा आ गए। आज कार्तिक हर महिना 8000 रूपया वेतन झोंक के स्वयं के संग परिवार ल आर्थिक सहयोग करत हे। कार्तिक जइसे फरसपाल, दंतेवाड़ा निवासी श्री मिथलेश एनएमडीसी मंटनेस एग्जाम म प्रथम आइस। दू भाई, दू बहिनी म सबले बड़े मिथलेश के पिता किसान हे। मिथलेश ह वर्ष 2013 म शासकीय आईटीआई गीदम ले वेल्डर ट्रेड म पढ़ाई करके तकनीकी शिक्षा प्राप्त करे रहिस। वो अब आगे चलके पिता के संग परिवार के आर्थिक सहयोग करत अपने भाई बहिनी ल अच्छा शिक्षा देना चाहत हे। जिला के हीरानार निवासी श्री लूदरु राम नाग अउ मैलावाड़ा निवासी श्री कमल सिंह आज अपन खुशहाल जीवन बर कृषि विभाग अउ जिला प्रशासन ल धन्यवाद देथें। दूनों किसान मन कृषि विभाग के मदद ले हैदराबाद स्थित वनस्पति अनुसंधान केंद्र ले ट्रेनिंग लेके उन्नत कृषि करना सुरू करिन अउ आज एक समृद्ध किसान हें। क्षेत्र के आन किसान इमन से प्रेरणा लेके खेती के माध्यम ले आर्थिक उन्नति के राह चुनत हें। श्री लूदरुराम नाग अउ श्री कमल सिंह जैविक खेती करके अपन आमदनी कई गुना बढ़ा डरे हें। श्री लूदरुराम ह ये महसूस करिस के रासायनिक खेती ले जमीन के उर्वरा शक्ति खतम होवत हे। जैविक खेती ले हम येला बचा सकत हवन। उमन प्रदेश के किसान मन ले अपील करिन के वो मन अपन अवइया पीढ़ी बर उर्वरा भूमि छोड़ के जाना चाहत हें, त जैविक खेती ल अपनावंय।
चितालंका निवासी श्रीमती सविता साहू महिला सशक्तिकरण के मिसाल हे। बिहान स्वसहायता समूह के मदद ले उनला ई-रिक्शा मिले हे। आज उमन दंतेवाड़ा शहर म दस हजार रूपया हर महीना कमाके स्वयं अउ घर के भरण पोषण करत हें। उंकर इच्छा बेटी ल उच्च शिक्षा देहे के हे। पति ह वोला घर ले निकाल देहे रहिस वोकर कर बाद वो अलग रहिथे। सविता बर इही ई-रिक्शा ह परिवार के भरण पोषण के सहारा हे।

मुहाचाही:  स्वच्छता बर मनखे मन के मानसिकता म बदलाव लाना बड़का काम : डॉ. रमन सिंह