डॉ. रमन सिंह

आपातकाल के बाद लोकतंत्र के बहाली म मीसा बंदी मन के महत्वपूर्ण योगदान: डॉ. रमन सिंह

  • मुख्यमंत्री सामिल होइन लोकतंत्र सेनानी संघ के कार्यक्रम म
  • राज्य सरकार छत्तीसगढ़ के मीसा बंदी मन ल ताम्र पत्र प्रदान करके सम्मानित करही

रायपुर, 25 जून 2018। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ह कहिन के आपातकाल के बाद लोकतंत्र के स्थापना म मीसा बंदी मन के महत्वपूर्ण योगदान हे। आपातकाल के समय ए लोकतंत्र सेनानी मन ह बहुत अकन यातना सहे हें अऊ बहुत अकन बलिदान दिए हें। ऊंखर त्याग अऊ बलिदान ले नवा पीढ़ी ल परिचित कराए बर आज पूरा देश म संकल्प दिवस मनाये जात हे। मुख्यमंत्री ह आज इहां पंडित दीनदयाल उपाध्याय सभागार म लोकतंत्र सेनानी संघ कोति ले आयोजित प्रांतीय कुटुंब सम्मेलन अऊ सम्मान समारोह ल संबोधित करत ए आशय के विचार प्रकट करिन। मुख्यमंत्री ह कहिन कि राज्य सरकार कोति ले छत्तीसगढ़ के लोकतंत्र सेनानी मन ल ताम्र पत्र प्रदान करके सम्मानित करे जाही अऊ राज्य सरकार उंखर मांग मन उपर सहानुभूति पूर्वक विचार करही। कार्यक्रम म नक्सली घटना म शहीद पुलिस जवान मन के परिजन अऊ आपातकाल के लोकतंत्र सेनानी मन ल शाल, श्रीफल अऊ चिनहा देके सम्मानित करे गीस। मुख्यमंत्री ह ए अवसर म लोकतंत्र सेनानी संघ कोति ले प्रकाशित ’नव स्वातंत्र्य स्मारिका’ के विमोचन करिन।
मुख्यमंत्री ह कहिन कि मीसा बंदी मन ले जादा ऊंखर कुटुंब जन मन ह यातना सहे हें। मैं मीसा बंदी मन अऊ ऊंखर परिवारजन के अभिनंदन करत हंव।
ए अवसर म गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, नगरीय विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, महिला अउर बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू, विधायक श्री श्रीचंद सुन्दरानी अऊ श्री बर्नाड जोसेफ रोड्रिक्स, छत्तीसगढ़ राज्य वनौषधि अउर पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, छत्तीसगढ़ वित्त आयोग के अध्यक्ष श्री चंद्रशेखर साहू संग बहुत अकन जनप्रतिनिधि अऊ प्रदेश के कई ठन जिला मन ले आए लोकतंत्र सेनानी अउ ऊंखर परिजन उपस्थित रहिन।



मुहाचाही:  अच्छा स्वास्थ्य सुविधा सुलभ कराए बर सरकारी अऊ निजी क्षेत्र ल मिलके करना होही काम: डॉ रमन सिंह