किसान

कृषि सेवा केन्द्र मन ल कृषि सूचना केन्द्र के रूप म विकसित करे जाही – डॉ. पाटील

  • कृषि सेवा केन्द्र अब किसान मन ल कौशल विकास प्रशिक्षण घलोक देही
  • देसी पाठ्यक्रम के तहत कृषि सेवा केन्द्र संचालक मन के संग परिचर्चा के आयोजन

रायपुर,2 अपरेल 2018। छत्तीसगढ़ के किसान मन के खेती-किसानी संबंधी जरूरत अउ समस्या मन ल समझे अऊ ऊंखर निराकरण बर राज्य के कई ठन जिला मन म खाद अउ दवा विक्रय करइया सबो 748 कृषि सेवा केन्द्र मन ल कृषि सूचना केन्द्र के रूप म विकसित करे जाही। एखरे संग ए केन्द्र मन के माध्यम ले किसान मन बर कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रम घलोक संचालित करे जाही। ये कृषि सेवा केन्द्र इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय कोति ले बनाए उत्पाद मन के विक्रय घलोक करहीं। ए आशय के घोषणा इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटील ह काल इहां छत्तीसगढ़ के कई ठन जिला मन ले आए कृषि सेवा केन्द्र के संचालक मन ल संबोधित करत कहिन। डॉ. पाटील ह कृषि सेवा केन्द्र संचालक मन ले आव्हान करिन के ओ मन कृषि विश्वविद्यालय अऊ राज्य शासन के संग जरूरी सहयोग करंय अऊ ‘‘सबका साथ सबका विकास’’ के अवधारणा ल सफल बनावव।
ए अवसर म संचालक अनुसंधान सेवाएं डॉ. एस.एस. राव, संचालक प्रक्षेत्र डॉ. एस.एस. सेंगर, निदेशक शिक्षण डॉ. एम.पी. ठाकुर, अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. जी.के. श्रीवास्तव, कृषि महाविद्यालय रायपुर के अधिष्ठाता डॉ. ओ.पी. कश्यप, मालिक विवेकानंद कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. विनय पाण्डेय संग कई ठन विभाग मन के विभागाध्यक्ष अउ कृषि वैज्ञानिक उपस्थित रहिन।


मुहाचाही:  कृषि विकास म छत्तीसगढ़ ह फेर फहराइस परचम